नहीं रही शाम्भवी

सरथाणा स्थित जू में बाघिन का बीती चार जून से चल रहा था इलाज, लंबी बीमारी के बाद तोड़ा दम

By: विनीत शर्मा

Published: 09 Jun 2021, 08:40 PM IST

सूरत. सरथाणा जू में बाघिन शाम्भवी ने बुधवार सुबह करीब चार बजे आखिरी सांस ली। वह बीती चार जून से बीमार चल रही थी। केंद्रीय जू अथॉरिटी की गाइडलाइन के मुताबिक पोस्टमार्टम के बाद दोपहर करीब एक बजे उसका विधिवत अंतिम संस्कार किया गया।

करीब 14 वर्षीय शाम्भवी बरसों से सूरत जू में आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी। हालांकि प्रसव के बाद वह थोड़ी आक्रामक हो जाती थी, लेकिन समय बीतने के बाद उसका सहजभाव लोगों को खूब भाता था। बीती चार जून को शाम करीब साढ़े चार बजे शाम्भवी की अचानक नर्वस साइन आए थे। शुरुआती लक्षण सर्पदंश के लगे तो चिकित्सकों ने उसी के अनुरूप उपचार देना शुरू किया था। अगले दिन सुबह तक तबियत में सुधार नहीं होने पर उसके सैम्पल लेकर जांच के लिए भी भेजे थे। बुधवार सुबह करीब चार बजे शाम्भवी ने अंतिम सांस ली। उसके बाद जू प्रशासन ने पोस्टमार्टम कराया और दोपहर करीब एक बजे गाइडलाइन के मुताबिक शवदाह कर अंतिम संस्कार किया गया।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned