पुराना मकान ढहा, जनहानि नहीं

बारिश के साइड इफेक्ट...
घरेलू सामान को नुकसान

By: सुनील मिश्रा

Published: 05 Jul 2018, 10:14 PM IST


वलसाड. शहर के आवाभाई स्कूल के सामने एक पुराना मकान गत रात्रि को तेज बारिश के दौरान ढह गया। घर के लोग सुरक्षित बाहर निकल गए। हालांकि घरेलू सामान टूट-फूट गया।
फायर बिग्रेड कार्यालय के पास रहने वाले नन्दकिशोर चौहान परिवार सहित इस मकान में रहते थे। बुधवार को पूरा दिन तेज बारिश होती रही। रात को नन्दकिशोर की पत्नी चम्पा बेन जैसे ही घर के दरवाजे बंद करने उठी। उसी दौरान तेज आवाज के साथ लकड़ी के पिलर गिर गए और मकान हिलने लगा। उन्होंने परिवार के लोगों को तुरंत इसकी सूचना दी और सभी लोग बाहर निकल गए। कुछ ही देर में पूरा मकान जमींदोज हो गया। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड का दस्ता तथा आसपास के लोग पहुंच गए। इसके बाद ऊपर का हिस्सा भी गिरा दिया गया। हादसे में घर में रखा लाखों का सामान दबकर नष्ट हो गया। गुरुवार सुबह फायर ब्रिगेड ने मलबा हटवाया। आसपास के लोगों ने परिवार की मदद की।

बरसात में सड़कों की हालत खस्ता
वापी. दो दिनों तक वापी में हुई बरसात गुरुवार को थमी रही। दो दिन की बरसात में ही क्षेत्र की प्रमुख सड़कें गड्ढों में तब्दील हो गई है। इससे वाहन चालकों का निकलना दुश्वार हो गया है। सड़क खराब होने से ट्रैफिक जाम की भी समस्या हो रही है। दो दिन तक वापी में मूसलधार बरसात होने से कई जगहों पर जलभराव की समस्या सामने आई थी। ओवरब्रिज सर्विस रोड, चला मुख्य रोड, जीआईडीसी सेकन्ड फेज की सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। ओवरब्रिज सर्विस मार्ग की हालत सबसे ज्यादा खराब है। वहीं, नगरपालिका का कहना है कि बरसात का जोर कम होने पर गड्ढों को भरने का काम शुरू होगा।

ट्रक और बस की टक्कर, जनहानि नहीं
वांसदा. वांसदा-वघई रोड पर वघई की ओर से आ रहे ट्रक की सप्तश्रृंगी जा रही बस से टक्कर हो गई। घटना में दोनों वाहनों को नुकसान हुआ है। हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई। इस घटना के चलते वांसदा-वघई रोड पर ट्रैफिक जाम लगा रहा। हादसे के दौरान बस में सवार यात्रियों में हड़कंप मच गया था। किसी भी यात्री को गंभीर चोट नहीं आने पर सभी ने राहत की सांस ली है।

हर जगह कीचड़, सड़कें टूटीं
सिलवासा. गुरुवार को रुक रुककर तेज बारिश हुई, जिससे सोसायटी एवं बाजारों में जलजमाव हो गया। सब्जी मार्केट में कीचड़ हो जाने से ग्राहकों की दिक्कत बढ़ गई है। पिपरिया अंबेडकर नगर की सड़कें टूट गई हैं। बारिश के कारण शहीद चौक, तहसीलदार कार्यालय एवं बस्ती फलिया में वाहनों की कतारें देखी गई। बस स्टैण्ड परिसर में जलभराव से यात्रियों को काफी परेशानी हुई। बारिश के दौरान दपाड़ा और सिलवासा में पेड़ गिरने की जानकारी मिली है। तराई वाले क्षेत्रों में जलभराव की समस्या बढ़ गई है। भुरकुड़ फलिया, पिपरिया अंबेडकर नगर में चाल एवं कच्चे मकानों में पानी रिसने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। खानवेल एवं रूदाना के चेकडेम पानी से भर गए हैं। रखोली, दपाड़ा, सुरंगी और आंबोली ग्राम पंचायत के खेत ताल तलैया में बदल गए हैं।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned