उडऩपरी सरिता ने देश को दिलाया दूसरा गोल्ड

Sunil Mishra

Publish: Feb, 15 2018 08:23:59 PM (IST)

Surat, Gujarat, India
उडऩपरी सरिता ने देश को दिलाया दूसरा गोल्ड

400 गुणा 4 रिले दौड़ में भी जीता सोने का तमगा
भारत का बनाया दबदबा


डांग. भारत की नई उडऩपरी डांग के कराड़ीआंबा गांव के श्रमिक परिवार की बेटी कुमारी सरिता गायकवाड़ ने इंडोनेशिया के जकार्ता में आयोजित एशियन गेम्स टेस्ट इवेन्ट कंपटीशन में देश को दो स्वर्ण पदक दिलाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का डंका बजा दिया है।
सोमवार 13 फरवरी को कुमारी सरिता गायकवाड़ ने 35 देशों के धावकों को 400 मीटर बाधा दौड़ में पीछे छोड़ते हुए भारत को गोल्ड मेडल दिलाया था। कुमारी सरिता ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए महज 59.08 सेकन्ड में यह दौड़ पूरी कर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक जीता था। जबकि स्पर्धा के अंतिम दिन मंगलवार 14 फरवरी को कुमारी सरिता गायकवाड़ ने 400 गुणा 4 मीटर रिले दौड़ में भाग लिया था। इसमें उसके साथ कर्नाटक की धावक नित्थ्या, कोलकाता की सोनिया और आसाम की हीमाए भी थी। चारों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यह दौड़ जीतकर भारत की झोली में दूसरा स्वर्ण पदक डालकर देश को गौरवान्वित किया है।
अंतरराष्ट्रीय कोच अजिमोन से प्रशिक्षण लेकर पहुंची इंडोनेशिया
फिर अंतरराष्ट्रीय कोच अजिमोन से प्रशिक्षण लेकर सरिता इंडोनेशिया पहुंची। यहां ४०० मीटर बाधा दौड़ तथा ४०० गुणा ४ रिले दौड़ के लिए चयन हुआ।

पीटी ऊषा का नया अवतार
देश का गौरव बढ़ाने वाली अंतरराष्ट्रीय धावक सरिता को पीटी ऊषा का नया अवतार कहा जा रहा है। डांग के सीमावर्ती गांव कराड़ी आम्बा के श्रमिक परिवार की बेटी सरिता को उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर ८वीं एशियन गेम्स टेस्ट इवेंट के लिए चयन हुआ था। इसके बाद एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से केरल में छह माह का प्रशिक्षण दिया गया।

डांग जिले का गौरव है सरिता गायकवाड़
डांग जिले की बेटी सरिता गायकवाड़ नवसारी जिले के चिखली में आट्र्स एण्ड कॉमर्स कॉलेज में प्रथम वर्ष की छात्रा है। यह कॉलेज सूरत के वीर नर्मद साउथ गुजरात यूनिवर्सिटी से संबद्ध है। ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में दौड़ जीती थी। सरिता ने गम माह १४ जनवरी को कोयम्बटूर में आयोजित ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में दौड़ जीती थी। सरिता ने तीन साल पहले ही एथलेटिक्स में भाग लेना शुरू किया है। इससे पहले वह खो-खो की खिलाड़ी थी। गुजरात में आयोजित खेल महोत्सव के दौरान भी उसने कई पदक जीते थे।

मुख्यमंत्री ने दी शुभकामना
देश को दो स्वर्ण पदक दिलाने वाली डांग जिले के आदिवासी परिवार की सुपुत्री कुमारी सरिता गायकवाड़ की इस सफलता पर राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, वन एवं आदिजाति मंत्री रमण पाटकर, कलक्टर बीके कुमार समेत कई गणमान्यों ने शुभकामना देते हुए उसे देश का गौरव बताया है।
उल्लेखनीय है कि डांग की गौरव कुमारी सरिता गायकवाड़ को अब देश की नई उडऩपरी कहा जाने लगा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश को दो स्वर्ण पदक दिलाने वाली इस खिलाड़ी के गांव में उत्सव का माहौल है।

1
Ad Block is Banned