पैदल चालणिया क सागे चाले बाबो श्याम...


- सूरत में निकली श्याम जगत की अति भव्य निशान पदयात्रा
- सुबह हुई बारिश व मौसम में ठंडक के बावजूद वेसू स्थित नंदिनी से 1700 से अधिक निशान लेकर श्रद्धालु वीआइपी रोड स्थित श्री श्याम मंदिर पहुंचे

- The exquisite trail trail of Shyam Jagat in Surat
- Despite the rain in the morning and the cold in the weather, devotees took more than 1700 marks from Nandini in Vesu and reached Shree Shyam Temple on VIP Road

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 07 Mar 2020, 01:19 PM IST


सूरत. वेसू स्थित नंदिनी परिवार व श्री सांवरिया सेवा संघ की ओर से फाल्गुन एकादशी के उपलक्ष में शुक्रवार को अति भव्य निशान पदयात्रा निकाली गई। सुबह हुई बारिश के बावजूद 1700 से अधिक निशान यात्रियों से पूरा वीआइपी रोड केसरिया रंग में रंग गया। जिधर देखो वहां भक्त बाबा के जयकारे लगाते हुए नजर आ रहे थे।
श्री सांवरिया सेवा संघ के प्रमुख पवन केजरीवाल व यात्रा प्रभारी विवेक पालीवाल ने बताया कि यात्रा सुबह आठ बजे वेसू स्थित नंदिनी-1 से रवाना हुई। वीआइपी रोड वेसू स्थित श्री श्याम मंदिर तक के करीब छह किलोमीटर लंबे यात्रा मार्ग में निशानधारी श्रद्धालुओं की कारवां दो किलोमीटर से भी अधिक लंबा था। अभूतपूर्व यात्रा मेें श्रद्धालु बाबा के जयकारे लगाते हुए श्री श्याम मंदिर पहुंचे और श्रद्धा पूर्वक बाबा को निशान अर्पित किए।
यात्रा के दौरान सुबह बारिश होने के बावजूद श्रदलुओं के हौसले पस्त नहीं हुए। वे दो गुने जोश के साथ बाबा के जयकारे लगाते हुए आगे बढ़ते रहे। यात्रा के दौरान हजारों पदयात्रियों का जगह-जगह पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया। यात्रा में संघ के राहुल अग्रवाल, कैलाश सिंघानिया, संजय गुप्ता, योगेश पोद्दार, नरेश बिरोलिया, अमित मुकेश अग्रवाल व अभिषेक गोयल शामिल हुए।


सजीव झांकिया और हाथी, घोड़े, बैंड बाजे
मीडिया प्रभारी मनीष सिंगडोदिया व सचिव राजेश गुप्ता ने बताया कि अब तक की सबसे बड़ी श्याम निशान पदयात्रा में सजीव झाकियां, हाथी, घोड़े, रथ, बैंड-बाजे, डीजे आकर्षण का केंद्र बने। यात्रा मार्ग के दोनों तरफ श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं ने जगह-जगह पुष्प वर्षा, इत्र फुहार से निशान पदयात्रियों को स्वागत किया। निशान पदयात्रियों के लिए जगह-जगह शीतल पेय व अल्पाहार की व्यवस्था की गई थी।


900 किलो से अधिक प्रसाद का किया वितरण
फाल्गुन एकादशी यात्रा के लिए आयोजकों द्वारा विशेष प्रसाद की व्यवस्था की गई थी। 900 किलो से अधिक प्रसाद तैयार करवा कर उसके हजारों पैकेट बनाए गए थे। यात्रा में शामिल हुए हजारों श्रद्धालुओं को प्रसाद के पैकेट का वितरण किया गया।


हाथों में सजाई मेहंदी
फाल्गुल एकादशी के मौके पर सूरत में निकली भव्य निशान पदयात्रा से पूर्व आयोजक श्री सांवरिया सेवा संघ व नंदिनी परिवार की सदस्य महिलाओं ने हाथों में मेहंदी रचाई। बाद में सदस्य महिलाओं ने यात्रा में हाथ खोलकर बाबा के जयकारे लगाए और बारिश में भी नाचते-गाते श्रीश्याम मन्दिर, सूरतधाम चली।

Show More
Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned