जल्द खुल जाएगा पाल लेक गार्डन

केबल और पाल-उमरा तापी ब्रिज की तरह वर्षों से अटके पड़े पाल लेक गार्डन का आखिरकार मुहूर्त निकल गया है। इसी महीने इसके उद्घाटन की तैयारी है। इस गार्डन क

By: मुकेश शर्मा

Published: 11 Sep 2017, 09:37 PM IST

सूरत।केबल और पाल-उमरा तापी ब्रिज की तरह वर्षों से अटके पड़े पाल लेक गार्डन का आखिरकार मुहूर्त निकल गया है। इसी महीने इसके उद्घाटन की तैयारी है। इस गार्डन के तालाब मेें पानी भरा जाएगा या नहीं, यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है। करीब सात साल से अधिक लम्बे इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए मनपा प्रशासन कवायद कर रहा था। तालाब के लोकार्पण से आसपास की बड़ी आबादी को घूमने-फिरने की अच्छी जगह मिल जाएगी।

पुराने गाम तालाब को विकसित करने की योजना करीब सात साल पुरानी है। मनपा प्रशासन ने इसे लेक गार्डन के कन्सेप्ट पर विकसित किया है। तालाब के चारों ओर गार्डन वातावरण को खुशनुमा बनाएगा, वहीं तालाब के पानी में बोटिंग आदि की सुविधा शुरू हो सकती है।


तालाब के बीचों-बीच पुराने हेरिटेज होप पुल का एक पाया रखा गया है, जिस पर मनपा ने नया पुल बना दिया है। इस पुल से लोग तालाब के एक छोर से दूसरे छोर तक जा सकेंगे। मनपा ने यहां फिलहाल कोई शुल्क नहीं रखा है। लोग गार्डन के टाइम पर यहां घूम-फिर सकेंगे। विभागीय सूत्रों के अनुसार 15 से 20 सितम्बर के बीच इसका लोकार्पण हो सकता है।


ऐसे चला पाल तालाब का सफर

पाल में करीब 35 हजार 610 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैले तालाब को विकसित करने में मनपा को सात साल से अधिक लग गए। सबसे पहले वर्ष 2010 के अप्रेल में यहां ठेकेदार को वर्क आर्डर सौंप कर विकास कार्य शुरू कराने की कोशिश हुई थी, लेकिन थोड़ा काम होने के बाद जमीन गुजरात वाटर बोर्ड की होने की वजह से कार्य रुक गया। जमीन को अपने अधीन करने के लिए मनपा को दो साल लगे। नौ जनवरी, 2012 को मनपा को जगह हासिल करने में सफलता मिली। मनपा ने तालाब विकसित करने के पहले चरण का काम शुरू करते हुए बजट में प्रस्ताव पारित कराया। तालाब के गहरीकरण और कंपाउंड वॉल समेत मिट्टी का पाला बनाने का काम शुरू हुआ।


इस पर करीब आठ लाख रुपए खर्च किए गए। मनपा ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत कार्य करने की सोच के साथ इसके काम को फिर रुकवा दिया, लेकिन पाल तालाब में किसी की रुचि नहीं थी। बाद में इसे अपने स्तर पर विकसित करने की योजना पर फिर काम शुरू हुआ। करीब तीन चरण में यहां विभिन्न काम पूरे किए गए। अब हॉर्टिकल्चर का काम पूरा होने के बाद तालाब को पानी से भरने के लिए मनपा ने हाइड्रोलिक विभाग और सिंचाई विभाग (नहर शाखा) को पत्र लिखा है। फिलहाल यहां बारिश का कुछ पानी जमा है, लेकिन पानी की व्यवस्था नहीं हुई तो भी तालाब का लोकर्पण कर लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

थीम बेस्ड गार्डन पर 20 लाख खर्च

तालाब के अंदर करीब 20 लाख रुपए के खर्च से हॉर्टकल्चर का काम पूरा हो चुका है। गार्डन में खुशबूदार फूलों के अलावा बड़े छायादार पेड़ लगाए गए हैं। टॉयलेट ब्लॉक के आसपास चारों ओर मोगरा, चम्पा और दिन के राजा के पौधे लगाए गए हैं। नारियल, कचनार आदि के पेड़ भी लगाए गए हैं।

कर ली तैयारी

&पाल लेक गार्डन प्रोजेक्ट का काम पूरा हो चुका है। उद्घाटन की तारीख मांगी है। उम्मीद है कि इसी महीने लोकार्पण हो जाएगा। पानी की व्यवस्था के लिए संबंधित विभागों को पत्र लिखा है। उनके जवाब का इंतजार किया जा रहा है।आर.सी.जरीवाला, कार्यपालक इंजीनियर, मनपा

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned