PARKING ISSUE IN SURAT पार्किंग का धंधा मंदा, चाहिए राहत की ऑक्सीजन

मनपा आयुक्त को लिखा पत्र, लॉकडाउन के दौरान की किराया माफी और आगे के किराए में 75 फीसदी कमी की मांग

By: विनीत शर्मा

Published: 26 Jun 2020, 09:08 PM IST

सूरत. लॉकडाउन के दौरान कामकाज बंद हुआ और लोगों का बाहर निकलना थमा तो पार्किंग का धंधा भी बंद हो गया। अनलॉक 1.0 के बाद भी यह धंधा मंदा ही है, जिससे उबरने के लिए पार्किंग ठेकेदारों को मनपा से अब राहत की ऑक्सीजन की दरकार है। इसके लिए पार्किंग ठेकेदार एसोसिएशन ने मनपा आयुक्त और मनपा पदाधिकारियों को पत्र लिखकर लॉकडाउन के तीन महीने की किराया माफी और आगे के लिए तय किराए में 75 फीसदी की छूट मांगी है।

मनपा प्रशासन ने शहरभर में फ्लाइओवर ब्रिजों के नीचे, खुले प्लाट्स में या मल्टीलेवल पार्किंग बनाकर ठेके पर दे रखी हैं। इनसे हर साल 15 करोड़ रुपए से ज्यादा की आमदनी मनपा को होती है। लॉकडाउन के दौरान करीब तीन महीने तक शहर में कामकाज पूरी तरह ठप रहा है। अनलॉक 1.0 में बाजार-दुकानें खुली भी लेकिन लोग बाजार में आने से परहेज बरत रहे हैं। ऐसे में पार्किंग ठेकेदारों को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। मनपा से तय दर पर उन्हें तो किराया भरना ही है, वाहन पार्क हों या नहीं। तीन महीने से धंधा चौपट पड़ा है, ऐसे में मनपा को उसके हिस्से की राशि देना इनके बूते के बाहर हो रहा है।

इस मुश्किल से निपटने के लिए पार्किंग कांट्रेक्टर एसोसिएशन सूरत ने मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि को पत्र लिखकर कोरोनाकाल के तीन महीने जब बाजार बंद रहा, उस दौरान का किराया माफ करने की मांग की है। साथ ही आने वाले दिनों में भी बाजार के नियमित होने की संभावना नहीं दिख रही। ऐसे में आगामी महीनों के लिए तय दर से 75 फीसदी की छूट दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि धंधा फिलहाल बाजार में नहीं है, इसलिए उन्हें राहत मिलनी चाहिए।

मांगी गाइडलाइन

एसोसिएशन ने इस आशय के पत्र महापौर डॉ. जगदीश पटेल और स्थाई समिति अध्यक्ष अनिल गोपलाणी को भी लिखे हैं। इन पत्रों में एससेसिएशन ने पार्किंग दोबारा शुरू करने के लिए मनपा से गाइडलाइन तय करने की भी मांग की है। एसोसिएशन पदाधिकारियों के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान ठेकेदारों ने अपना स्टाफ भी वहां से हटा लिया है। मनपा एक बार गाइडलाइन तय कर दे तो नए सिरे से पार्किंग शुरू की जाए।

Show More
विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned