केवडिया व गरुडेश्वर में बंद का आंशिक असर

केवडिया व गरुडेश्वर में बंद का आंशिक असर

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Dec, 20 2018 09:26:45 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

तीन दिनों के बंद का आदिवासी संगठनों ने किया है ऐलान

पीएम के आगमन का हो रहा विरोध

नर्मदा.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शुक्रवार को डीजीपी कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने आ रहे होने का विरोध आदिवासियो की ओर से किया जा रहा है। आदिवासी संगठनों की ओर से तीन दिनों तक केवडिया के साथ गरुडेश्वर बंद का ऐलान किया। बंद के ऐलान के पहले दिन गुरुवार को दोनों स्थानों पर अधिकांश दुकानें बंद रही।

 

लोग चाय-पान तक के लिए तरस गए। पीएम क ा विरोध आदिवासी समाज की ओर से किया जा रहा है। आदिवासी नेताओं का कहना है कि सरकार आदिवासियों का शोषण कर रही है। स्टेच्यू से आदिवासियों का कोई भला नहीं होने वाला है।

 

उधर, तीन दिवसीय बंद के ऐलान को देखते हुए केवडिया के साथ गरुडेश्वर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। स्टेच्यू व बांध की ओर आने वाले हर मार्गों पर पुलिस लगातार गश्त लगा रही है।

 

धरने पर बैठे आदिवासी नेता
नर्मदा.

पीएम नरेन्द्र मोदी के आगमन का विरोध कर रहे आदिवासी समाज के नेताओं की ओर से गुरुवार से राजपीपला कलक्ट्रेट के बाहर धरना दिया। आदिवासी नेता डॉ. प्रफुल्ल वसावा सहित अन्य लोग धरने पर बैठे हैं।

 


डॉ. प्रफुल्ल वसावा ने कहा कि सरकार ने आदिवासियों को शुरू से ही ठगने का काम किया है। पांचवीं अनूसूचि का भी पालन नहीं हो पा रहा है। आदिवासियों को मिटाने और उनकी संस्कृति का चीरहरण हो रहा है। उन्होंने कहा कि नर्मदा बांध, स्टेच्यू ऑफ यूनिटी, श्रेष्ठ भारत भवन सहित विभिन्न प्रोजेक्ट के लिए आदिवासियों की जमीन को छीनकर उद्योगपतियों को दे दी गई है। अब सरकार की नजर केवडिया गांव पर टिकी हुई है। जमीन गंवाने वाले प्रभावितों को नौकरी भी नहीं दी गई है। सरकार अगर आदिवासियों की मांग को गंभीरता से नहीं ली तो भूख हड़ताल किया जाएगा।

 

 

साइकिल यात्रियों का अंकलेश्वर में स्वागत

भरुच. पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में जागरुकता लाने के उद्देश्य से दिल्ली से मुंबई तक साइकिल से निकले पर्यावरण प्रेमियों का गुरुवार को अंकलेश्वर पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने स्वागत किया। साइकिल यात्रा पर कुल 25 लोग निकले हैं, जो रास्ते में लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते आ रहे हैं। दिल्ली के इंडिया गेट से १५ दिसंबर को ये लोग साइकिल यात्रा पर निकले। साइकिल यात्रियों में चार महिलाएं भी शामिल है। साइकिल यात्री भरत कुमार, प्रमोद कुमार, अमन वत्स ने लोगों को पर्यावरण संरक्षण का महत्व समझाया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned