अवध मार्केट से दुकान बंद कर पार्टी फरार


- सलाबतपुरा थाने में 12.68 लाख की धोखाधड़ी का मामला दर्ज

- तंबाकू व्यापारी के यहां लूट का एक और आरोपी गिरफ्तार

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 20 Feb 2021, 10:29 AM IST

सूरत. बेगमपुरा के एक व्यापारी को सूरत व मुंबई में कपड़े का बड़ा कारोबार होने की बात बता कर अवध मार्केेट के व्यापारी ने 12.68 लाख की साडिय़ां उधार ली और फिर बिना पेमेंट किए ही दुकान बंद कर फरार हो गया। पुलिस के मुताबिक अवध टेक्सटाइल मार्केट में जहान्वी इंटरप्राइज के नाम से कारोबार करने वाले दुर्गेश खत्री ने परवत पाटिया अक्षर टाउनशिप निवासी अशोक गहलोत के साथ धोखाधड़ी की। बेगमपुरा में सालासर टेक्सटाइल के नाम से कारोबार करने वाले अशोक की दो साल पूर्व दुर्गेश से मुलाकात हुई थी।

दुर्गेश ने बताया था कि उसका सूरत व मुंबई में कपड़े का बड़ा कारोबार है। मुंबई में शकील और सलीम उसके दो पार्टनर काम संभालते है। लॉक डाउन के बाद जब सभी व्यापारियों की हालत खराब थी। उस समय अशोक मिला और बताया कि उसका कोराबार अच्छा चल रहा है। फिर उसने लुभावनी बातें कर अक्टूबर से दिसम्बर 2020 के दौरान 12.68 लाख रुपए की साडिय़ां उधार ली लेकिन उनका भुगतान नहीं किया। पैमेंट मांगने पर अभद्र भाषा में बात की और जान से मारने की धमकी भी दी। फिर मौका देख कर दुकान बंद कर दी और फरार हो गया। इस पर अशोक ने सलाबतपुरा थाने में शिकायत दर्ज करवाई।

तंबाकू व्यापारी के यहां लूट का एक और आरोपी गिरफ्तार


सूरत. परवत पाटिया इलाके में लूट के इरादे से तंबाकू के एक थोक व्यापारी की दुकान में चाकू से हमला करने के मामले में क्राइम ब्रांच ने माडल टाउन कबूतर सर्कल सेे एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक महाराष्ट्र के जलगांव आजादनगर निवासी अल्ताफ पिंजारी (24) पेशे से प्लम्बर है। उसने ने पूर्व में पकड़े गए अपने साथी लिम्बायत सुगरा नगर निवासी शातिर शोएब खान पठान उर्फ नूर के साथ मिल कर परवत पाटिया चौयासी डेयरी के पास स्थित जय भिक्षु टोबेको स्टोर में लूट का प्रयास किया था।

एक फरवरी को दोनों सामान लेने के बहाने स्टोर में घुसे और फिर दुकानदार जगदीश चंद्र पर चाकू से हमला किया था। जगदीश चंद्र घायल होने के बावजूद हिम्मत दिखाते हुए उनका प्रतिरोध किया। किसी तरह बाहर निकल कर शोर मचाया तो दोनों वहां से भाग निकले थे। हड़बड़ाहट में एक जूता और बैग दुकान में छूट गए थे। सीसी टीवी फुटेज और मुखबिर से मिली जानकारी के आधार पर क्राइम ब्रांच ने शोएब को गिरफ्तार किया था लेकिन अल्ताफ फरार था।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned