पूरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस में बोरा देख सन्न रह गए यात्री, पुलिस ने की कार्रवाई

पूरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस से 66 किलो गांजा पकड़ा

वडोदरा एसओजी तथा सूरत रेलवे पुलिस एनडीपीएस टीम की संयुक्त कार्रवाई

सूरत.
वडोदरा रेलवे पुलिस एसओजी तथा सूरत रेलवे पुलिस के एनडीपीएस स्क्वॉयड ने बुधवार-गुरुवार रात पूरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से गांजा बरामद किया है। बरामद गांजा का वजन 66 किलो और कीमत 3.96 लाख रुपए बताई गई है।


सूत्रों के अनुसार, वडोदरा एसओजी के एएसआई प्रदीप फुलसिंह, कांस्टेबल हरपाल अजीत सिंह, हरेश शांतु तथा सूरत रेलवे पुलिस एनडीपीएस टीम के एएसआई किशोर भाणा, भरुच रेलवे पुलिस केहेड कांस्टेबल दिनेश परथी बुधवार देर रात को सूरत आए थे और किसी ट्रेन में नंदूरबार पहुंच गए। यह टीम 12843 पूरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस में नंदूरबार से चढ़ गई और तलाशी अभियान शुरू किया। जांच के दौरान रात 2.10 बजे चलथान स्टेशन के पास एएसआई प्रदीप को एस-2 कोच के पैसेंजरों ने लावारिस बोरे की जानकारी दी।

इसको एस-2 और एस-1 के कोरिडोर में रखा हुआ था। संदेह होने पर एनडीपीएस टीम ने बोरे को खोला तो जिसमें नशीली वनस्पती होने की जानकारी मिली। ट्रेन में उस बोरे का कोई मालिक नहीं मिला। ट्रेन के सूरत पहुंचने पर बोरे को उतार कर रेलवे पुलिस थाने लाया गया। रेलवे पुलिस ने 66.072 किग्रा गांजा होने की पुष्टि की है। बरामद गांजे की कीमत 3 लाख 96 हजार 432 रुपए बताया गया है।


उल्लेखनीय है कि सूरत रेलवे पुलिस की स्थानीय टीम के द्वारा नशीला पदार्थ की हेराफेरी करने वालों पर ना के बराबर कार्रवाई होती है। वडोदरा रेलवे पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर एसओजी तथा एनडीपीएस टीम में शामिल जवान ओडीसा से आने वाली ट्रेनों से गांजा बरामद करते हैं, लेकिन कोई आरोपी उनके हाथ नहीं आता है। लावारिस पड़े गांजे के पकड़े जाने पर उसका मालिक फरार हो जाता है। बाद में रेलवे पुलिस गांजे को लावारिस बताकर मामला दर्ज कर खानापूर्ति कर देती है।

Sanjeev Kumar Singh
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned