PATRIKA IMPACT : रात में आने-जाने वाली ट्रेनों के यात्रियों को मिली राहत

पत्रिका ने यात्रियों की परेशानी का उठाया था मुद्दा...

- रात्रि कर्फ़्यू के दौरान स्टेशन पर ऑटो रिक्शा के लिए मंजूरी मिली

The PATRIKA had raised the issue of passengers' trouble ...

- Approved for auto rickshaw at the station during night curfew

By: Dinesh M Trivedi

Published: 27 Nov 2020, 11:10 AM IST

सूरत. रात्रि कर्फ्यू के दौरान सूरत रेलवे स्टेशन से आने जाने वाली आधा दर्जन ट्रनों के करीब 1200 से भी अधिक यात्रियों को अब घर आने-जाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। रात्रि कर्फ़्यू लागू होने के दूसरे दिन हुई समस्या को लेकर राजस्थान पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद रेलवे स्टेशन पर रात में ऑटो रिक्शा खड़े रखने की मंजूरी दे दी है।

READ MORE : - PATRIKA GROUND REPORT : कर्फ़्यू के दौरान आने जाने वाले छह ट्रेनों के 1200 यात्री परेशान, कई पैदल घर पहुंचे

वहीं, पुलिस ने ऑटो रिक्शा चालकों के लिए शर्त भी रखी है कि तय दरों से अधिक किराया नहीं वसूला जाए। यदि कोई रिक्शा चालक अधिक किराया वसूलेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। महिधरपुरा थाना प्रभारी आर.के. धुलिया ने बताया कि कैब, ऑटो रिक्शा को रात्रि कर्फ़्यू के दौरान आवश्यक कार्यों के लिए छूट दी है। स्टेशन पर ऑटो रिक्शा चालक यात्रियों से अधिक किराया वसूल रहे थे, इसलिए भी उन्हें हटाया गया था।

गौरतलब है कि 22 नवम्बर को पत्रिका टीम रात्रि कर्फ़्यू का जायजा लेने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंची थी। वहां मौजूद कुछ रिक्शा चालकों ने बताया था कि रात में स्टैण्ड पर रहने वाले 75 ऑटो रिक्शा को महिधरपुरा पुलिस ने हटा दिया है। कर्फ़्यू के दौरान सुबह तक आधा दर्जन ट्रैन स्टेशन पर आती हैं। इनमें करीब 1200 यात्री होते हैं।

ऐसे में न सिर्फ हमारे जैसे रात में रिक्शा चलाने वालों के लिए, बल्कि यात्रियों के लिए भी मुश्किल होगी। क्योंकि कैब की संख्या कम है। इस बातचीत के कुछ ही देर बाद गोवा से आई ट्रेन के दर्जनों यात्री स्टेशन से निकले। कुछ तो परिजनों के साथ चले गए, लेकिन कई लोग ऑनलाइन कैब व ऑटो रिक्शा नहीं मिलने से परेशान दिखे। कुछ काफी देर खड़े रहे तो कई यात्रियों ने पैदल ही घरों की राह पकड़ी।

चैम्बर ने भी की व्यवस्था, बस का समय बढ़ा :

यात्रियों की परेशानी देखते हुए चैम्बर ऑफ कॉमर्स ने भी कारों के जरिए यात्रियों को नि:शुल्क घर पहुंचाने का इंतजाम किया है। वहीं, मनपा संचालित 9 रूटों की सिटी बसों का समय भी रात्रि साढ़े नौ बजे तक किया गया है। ताकि नौ बजे से कर्फ़्यू लगने के बाद स्टेशन आने-जाने वाले गन्तव्य तक पहुंच सकें।

Show More
Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned