बारिश के इंतजार में लोग

चिंता में पड़े वलसाड जिले के किसान


Valsad district farmers worried

By: Sunil Mishra

Published: 01 Jul 2020, 12:15 AM IST

वलसाड. बरसात में देरी से जिले के किसानों में चिंता का माहौल है। गर्मी से परेशान लोग भी बरसात का इंतजार कर रहे हैं। हर साल 10 जून तक बरसात शुरू हो जाती थी। लेकिन इस वर्ष जून अंत तक बरसात नहीं हुई है। इससे गर्मी और उमस लोगों को परेशान कर रही है। बरसात न होने से किसानों की भी चिंता बढ़ गई है। बरसात में देरी से खेतों में बुवाई नहीं हो पाई है। कुछ दिन और बरसात टलने पर किसानों को नुकसान होने की आशंका बढ़ गई है। चणवई गांव के एक किसान ने बताया कि कई दिनों से बरसात की संभावना के बावजूद बरसात नहीं हो रही है। इससे खेतों में बीज नहीं डाल पाए हैं क्योंकि खेतों में पानी नहीं है। शहर में प्लास्टिक का व्यापार करने वाले व्यक्ति ने भी कहा कि कोरोना के कारण तीन माह दुकानें बंद थी। जब दुकान खुली तो बरसात में भी देरी हो गई। इससे व्यापार पूरी तरह मंदा है।

बरसे बिना ही उड़ जा रहे हैं बादल
वापी. जून पूरा होने वाला है, लेकिन इस वर्ष अभी तक बरसात न होने से गर्मी और उमस से लोग परेशान हैं।
वलसाड जिले के किसानों में भी चिंता का माहौल है। हालांकि बीच-बीच में हल्की बरसात जरूर हुई है। जबकि गत वर्ष इस दौरान वापी तहसील में करीब ढाई सौ मिमी बरसात हो चुकी थी। इस वर्ष बादल सिर्फ लुकाछिपी कर रहे हैं। रोजाना काले घने बादल आसमान में छा रहे हैं, लेकिन हल्की बूंदाबांदी के बाद उड़ जा रहे हैं। इसके बाद उमस पूरे दिन लोगों को परेशान कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार गत वर्ष 29 जून तक वापी तहसील में 311 मिमी बरसात दर्ज हो चुकी थी। इस वर्ष जून बीत गया, लेकिन ढंग की बरसात नहीं हुई। सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे, लेकिन शाम होते होते उड़ गए। गर्मी के दिनों में भूजल स्तर नीचे चले जाने से पानी की किल्लत का सामना कर रहे लोगों को उम्मीद थी कि जून में बरसात होने पर लोगों की यह समस्या खत्म हो जाएगी। लेकिन बरसात नहीं होने से अभी तक लोगों को गर्मी की समस्या परेशान कर रही है।

Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned