सूरत.

श्रीबृजमंडल की ओर से आयोजित श्रीकृष्णलीला महोत्सव में गोवर्धन पूजा, छप्पनभोग व अन्नकूट के प्रसंगों का जीवंत चित्रण किया गया। सिटीलाइट में महाराजा अग्रसेन भवन के पंचवटी हॉल में आयोजित महोत्सव में श्रीकृष्ण ने इंद्र का मान-मर्दन करने के लिए सभी बृजवासियों को गोवर्धन पर्व के पास एकत्रकर बाद श्रीकृष्ण के ही स्वरूप गिरिराज पर्वत के नीचे बृजवासियों को प्रवेश करवाया गया। बाद में सभी ने पुजारी बनकर पूजा की और सात कोसीय पर्वत के घेरे में धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष चारों पुरुषार्थ को जीवमात्र के लिए स्थापित किया।

Ad Block is Banned