सूरत.
कपड़ा बाजार में बंद बेअसर रहा। पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता सुबह जब क्षेत्र में पहुंचे, तब तक कपड़ा बाजार पूरी तरह खुला भी नहीं था। कमेला दरवाजा के निकट मिलेनियम मार्केट समेत अन्य टैक्सटाइल मार्केट के मुख्य द्वार इस दौरान खुले मिलने पर कार्यकर्ताओं ने उन्हें बंद करने की मांग करते हुए नारेबाजी की। उस समय ज्यादातर मार्केट में व्यापारी अपने प्रतिष्ठान नहीं पहुंचे थे। कपड़ा बाजार में हुड़दंग के दौरान पुलिस ने कई कार्यकर्ताओं को डिटेन किया।

Ad Block is Banned