सूरत.

एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज द्वारा किए गए भारत बंद के आह्वान का गुरुवार को सूरत में कोई खास असर नहीं दिखा। कपड़ा बाजार समेत अधिकतर व्यापारिक संगठनों से बंद को समर्थन नहीं मिला। हालांकि पांडेसरा इलाके में सुबह कुछ लोगों ने बंद के समर्थन में दुकानें बंद करवाने का प्रयास किया। पुलिस ने हालात पर काबू पाकर मौके से ११ जनों को हिरासत (डिटेन) में लिया तथा क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी। पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर गुरुवार को सूरत शहर कांग्रेस समिति की ओर से विरोध प्रदर्शन किया गया। गुजरात राज्य तलाटी महामंडल ने गुरुवार को कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। मंडल पिछले लंबे समय से विभिन्न मांगों को पूरा करने की सरकार से गुहार लगा रहा है, लेकिन उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned