सूरत.

सूरत में पारा 36 डिग्री पर रहा, लेकिन झुलसाने वाली गर्मी ने सभी को बेहाल कर दिया। धूप की तेजी और उमस के कारण दोपहर सड़कों पर निकलना दुश्वार हो गया है। मौसम की सबसे ज्यादा मार मजदूर झेल रहे हैं, जिन्हें दो जून की रोटी के जुगाड़ के लिए तपती धूप में भी सड़कें नापनी पड़ती हैं और बाद में काम के दौरान पसीना बहाना पड़ता है। सुबह से ही धूप में तेजी रहती है और दोपहर कई इलाकों की सड़कें सूनी हो जाती हंै। शहर का अधिकतम तापमान 36.4 डिग्री और न्यूनतम 28.6 डिग्री दर्ज किया गया। हवा में नमी 63 प्रतिशत और गति 8 किमी प्रति घंटे रही। गर्मी और तेज धूप से बचने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय कर रहे हैं। वह कपड़े बांधकर और छाता लेकर सड़कों पर निकलते हैं। गर्मी ने शीतल पेय, बर्फ के गोलों और आइसक्रीम की बिक्री बढ़ा दी है।

Ad Block is Banned