PODHAROPAN: यार्न पार्क परिसर में रोपे पौधे

रोटरी क्लब ऑफ सूरत सीफेस ओर से मानसून के दौरान पौधारोपण अभियान गत कई वर्षों से जारी

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 10 Aug 2020, 09:23 PM IST

सूरत. मानसून के दौरान पौधारोपण के महत्व को समझते हुए रोटरी क्लब ऑफ सूरत सीफेस की सदस्य व पदाधिकारियों ने रविवार को कारेली गांव स्थित एक यार्न पार्क परिसर का भ्रमण किया और बाद में वहां विभिन्न किस्म के पौधे रोपे।
क्लब के पौधारोपण कार्यक्रम के योजना प्रभारी मुरारी सर्राफ ने बताया कि क्लब की ओर से मानसून के दौरान पौधारोपण अभियान गत कई वर्षों से जारी है और इस शृंखला में इन दिनों शहर के आसपास व डांग जिले में भी फलदार पौधों का वितरण लगातार जारी है। रविवार को अभियान के तहत कारेली गांव स्थित केजरीवाल जॉट्र्स प्रालि. के यार्न पार्क परिसर में पौधारोपण किया गया। इससे पूर्व क्लब के पदाधिकारी व सदस्यों ने यार्न पार्क का भ्रमण कर यार्न इंडस्ट्रीज स्पिनिंग, टैक्सटाइल मशीनरी, एयर टैक्स मशीन, वाटरजेट व वीविंग मशीनों से कच्चे माल से धागा बनने से पैकिंग तक की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जाना। इसके बाद यार्न पार्क परिसर में पर्यावरण को हरा-भरा रखने के उद्देश्य से आम, चीकू, जामुन, आंवला, एलोवीरा आदि के दो सौ फलदार, छांवदार व आयुर्वेदिक पौधे रोपे गए। रोटेरियन गिरधारीलाल केजरीवाल के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम में क्लब की अध्यक्ष रचना माहेश्वरी, सचिव संगीता चुड़ीवाल, फाउंडर कविता सर्राफ, रोटेरियन सुनीता केजरीवाल समेत अन्य सदस्य व पदाधिकारी भी मौजूद थे।

मनाई शीतला सप्तमी


स्थानीय श्रद्धालु महिलाओं ने सोमवार को शीतला सप्तमी का त्योहार मनाया। इस दौरान उन्होंने मंदिरों के बाहर व अन्य स्थलों पर सोशल डिस्टेंस के साथ शीतला माता की पूजा-आराधना की। इन दिनों गुजराती-मराठी पंचांग के मुताबिक श्रावण मास चल रहा है और श्रावण मास की सप्तमी के अवसर पर स्थानीय श्रद्धालु महिलाओं ने सोमवार को शीतला सप्तमी का त्योहार मनाया। इस दौरान शहर में मंदिरों के अलावा तापी नदी के विभिन्न तटों पर सोशल डिस्टेंस व मास्क लगाकर जमा हुए महिलाओं ने बारी-बारी से शीतला माता की पूजा-अर्चना की और जरूरतमंदों को प्रसाद व अन्य सामग्री बांटी।

Show More
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned