scriptPolice take permission of the VC before entering in university | अब विश्वविद्यालय में प्रवेश ने से पहले पुलिस को लेनी होगी कुलपति की अनुमति | Patrika News

अब विश्वविद्यालय में प्रवेश ने से पहले पुलिस को लेनी होगी कुलपति की अनुमति

- नवरात्रि आयोजन में हुए विवाद को लेकर सिंडिकेट में हुई चर्चा, सिंडिकेट सदस्यों ने इस मामले में राज्यपाल से शिकायत करने का किया फैसला

सूरत

Published: October 26, 2021 09:38:17 pm

सूरत.
वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने से पहले अब पुलिस को कुलपति की अनुमति लेनी पड़ेगी। नवरात्रि आयोजन को लेकर हुए विवाद का मामल सिंडिकेट में चर्चा का विषय बना। सिंडिकेट ने इस मामले में राज्यपाल से शिकायत करने का तय किया है। साथ ही पुलिस को परिसर में आने से पहले कुलपति की अनुमति लेने का भी निर्णय लिया गया है।
वीएनएसजीयू में सोमवार नवरात्रि आयोजन को लेकर एबीवीपी और उमरा पुलिस के बीच विवाद हुआ था। उमरा पुलिस ने कई एबीवीपी कार्यकर्ताओं को पिटाई की थी। इसके बाद एबीवीपी ने उमरा पुलिस के खिलाफ आंदोलन शुरू किया। पुलिस को निलंबित करने के मांग को लेकर तीन सभी कॉलेज, वीएनएसजीयू परिसर, उमरा पुलिस थाना और कलेक्टर कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया था। एबीवीपी को कुलपति को ओर से वीएनएसजीयू परिसर में नवरात्रि का आयोजन करने की अनुमति दी गई थी। बिना कुलपति के अनुमति के पुलिस का विवि परिसर में आना भी विवाद का कारण बना। सभी वीएनएसजीयू से इस मामले में करवाई की मांग करने लगे। उधर पुलिस कामिशनर ने मामले की जांच के आदेश दिए। फिर भी एबीवीपी ने सभी के निलंबन की मांग के साथ आंदोलन जारी रखा। एबीवीपी के आंदोलन का असर यह हुआ की प्रशासन ने उमरा पीआई और पीएसआई का तबादला कर दिया। दो डी स्टाफ कर्मचारियों को निलंबित कर दिया। वीएनएसजीयू के प्रति नाराजगी ना हो इसलिए इस मामले को सिंडिकेट में मुख्य चर्चा का प्रस्ताव बनाकर इस पर चर्चा की गई। सभी सिंडिकेट सदस्यों ने तय किया की अब वीएनएसजीयू परिसर में आने से पहले पुलिस को कुलपति को अनुमति लेना होगा। साथ में इस मामले में राज्यपाल से भी शिकायत करने का तय किया गया है। जिससे भविष्य में वीएनएसजीयू परिसर में पुलिस और विद्यार्थियों के बीच ऐसी हाथापाई ना हो।
अब विश्वविद्यालय में प्रवेश ने से पहले पुलिस को लेनी होगी कुलपति की अनुमति
अब विश्वविद्यालय में प्रवेश ने से पहले पुलिस को लेनी होगी कुलपति की अनुमति
कुलपति की अनुमति बिना करवाई अयोग्य
सभी सिंडिकेट सदस्यों का कहना है की विश्वविद्यालय के कुलपति के पास कई बड़े अधिकार होते है। उनमें से एक ही अधिकार यह भी है की उनकी अनुमति बिना कोई भी विश्वविद्यालय परिसर में प्रवीहा नही कर सकता। पुलिस को परिसर में करवाई से पहले कुलपति से अनुमति लेनी होती है। पुलिस ने बिना अनुमति जो करवाई की है वो अयोग्य है।
राज्यपाल से कारवाई का अनुरोध:
विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस ने जो विद्यार्थियों के साथ मारपीट को वो गलत है। भविष्य में किसी भी विश्वविद्यालय में ऐसी घटना ना हो इसलिए सिंडिकेट में इस मामले को गंभीरता से लेते हुए निर्णय लिया गया है। राज्यपाल से इस मामले में उचित कारवाई करने के लिए अनुरोध करने का भी सिंडिकेट में निर्णय किया गया है।
किरण घोघरी, सिंडिकेट सदस्य, वीएनएसजीयू

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

गोवा में कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं, NCP शिवसेना के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावAntrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशRepulic Day Parade 2020: आजादी के 75 साल, 75 लड़ाकू विमान दिखाएंगे कमालLeopard: आदमखोर हुआ तेंदुआ, दो बच्चों को बनाया निवाला, वन विभाग ने दी सतर्क रहने की सलाहइन सेक्टरों में निकलने वाली हैं सरकारी भर्तियां, हर महीने 1 लाख रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.