पीओवाय और एफडीवाय महंगे

पीओवाय और एफडीवाय महंगे

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Sep, 16 2018 09:47:25 PM (IST) Surat, Gujarat, India

वीवर्स ने यार्न की खरीद पर रोक लगा दी

सूरत
यार्न बाजार में बीते सप्ताह भी दाम बढ़े। यार्न उत्पादकों का कहना है कि यार्न के कच्चे माल की कीमत बढऩे के कारण यार्न की कीमत में उछाल आया। हालांकि बाजार में खरीद नहीं होने के कारण वीवर्स ने यार्न की खरीद पर रोक लगा दी है। वीवर्स की ओर से कमजोर खरीद के बावजूद एफडीवाय में आठ रुपए और पीओवाय में चार रुपए बढ़े। व्यापारियों की ओर से ग्रे की खरीद कम होने के कारण वीवर्स भी आवश्यकतानुसार यार्न खरीद रहे हैं। यार्न व्यवसायी फोरम घीवाला और बकुल पंड्या ने बताया कि यार्न की कीमतों में उछाल जारी है। यार्न उत्पादकों का कहना है कि वैश्विक बाजार में यार्न के कच्चे माल एमइजी और पीटीए की कीमत लगातार बढऩे से यार्न के दाम बढ़ रहे हैं। त्योहारों पर होने वाली खरीद लगभग पूरी हो चुकी है, इसलिए वीवर्स खरीद कम कर रहे हैं। उन्हें दाम घटने का इंतजार है। दूसरी ओर यार्न उत्पादक दाम करने के मूड में नहीं हैं।

पुलिस बंदोबस्त के बीच चालू रहे कारखाने
सूरत. एम्ब्रॉयडरी संचालकों ने रविवार को पुलिस बंदोबस्त के बीच कारखाने चालू रखे। शनिवार की रात आंजणा क्षेत्र में कुछ लोग श्रमिकों को धमका रहे थे। एम्ब्रॉयडरी संचालकों ने इसका वीडियो पुलिस को दिया है।
एक महीने से अलग-अलग क्षेत्रों की एम्ब्रॉयडरी यूनिट में काम करने वाले श्रमिक रविवार को वेतन के साथ छुट्टी की मांग कर रहे हैं। कई क्षेेत्रों में कुछ श्रमिकों ने तोडफ़ोड़ भी की। इसको लेकर एम्ब्रॉयडरी संचालकों ने पुलिस कमिश्नर से प्रोटेक्शन की मांग की थी। रविवार को कई क्षेत्रों में पुलिस तैनात थी। श्रमिकों ने कारखाने शुरू किए और दिनभर काम चला। आंजणा क्षेत्र के अग्रणी एम्ब्रॉयडरी यूनिट संचालक श्रवण जोशी ने बताया कि रविवार को तमाम क्षेत्रों में कारखाने शांतिपूर्ण ढंग से चालू रहे। पुलिस बंदोबस्त के कारण कोई कारखाने बंद कराने नहीं आया। आंजणा क्षेत्र में शनिवार रात कुछ बदमाश श्रमिकों को रविवार को कारखाने नहीं आने की धमकी दे रहे थे। इसका वीडियो पुलिस को दे दिया गया है।
श्रमिकों की मीटिंग
एम्ब्रॉयडरी यूनिट के श्रमिकों के बवाल को लेकर रविवार को इन्टुक की मीटिंग हुई। इसमें बीते रविवार पकड़े गए श्रमिकों पर रायोटिंग का मामला दर्ज करने को अनुचित बताया गया। यदि एम्ब्रॉयडरी संचालक श्रमिकों की मांगों को नहीं स्वीकारेंगे तो कोर्ट में जाने पर विचार किया गया। प्रवक्ता शान खान ने बताया कि श्रमिक अहिंसापूर्ण ढंग से आगे बढ़ेंगे और कारखानेदारों के समक्ष अपनी मांग रखेंगे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned