World Womens Day : कैंसर को हराकर वृद्धों की सेवा में लगा दी जिंदगी

- सिंधु ताई, सावित्री फुले और विमन एम्पावरमेंट समेत 150 से अधिक अवार्ड से सम्मानित

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 08 Mar 2021, 10:52 PM IST

सूरत.

विद्यार्थियों को पोस्को एक्ट तथा यौन शोषण के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ सूरत की महिला वकील बीना भगत वृद्धाओं की सेवा कर समाज में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। इन्हें सिंधु ताई, सावित्री फुले अवार्ड और महानगरपालिका द्वारा 2017 में विमन एम्पावरमेंट समेत करीब 150 से अधिक अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

कतारगाम निवासी महिला वकील बीना बी. भगत को 2018 में कैंसर हुआ था, लेकिन उन्होंने हौंसला नहीं हारा और इलाज के साथ-साथ सामाजिक कार्यो से भी जुड़ी रहीं। 18 सेशन किमोथैरापी लेने के बाद आखिरकार बीना ने कैंसर को हरा दिया। समाज के प्रति किए जाने वाले कार्यो को देखते हुए उन्हें वर्ष 2019 में सिंधु ताई अवार्ड से सम्मानित किया गया।


बीना भगत ने राजस्थान पत्रिका को बताया कि वह सूरत जिला कोर्ट में प्रेक्टिस करने के साथ कुछ समय सामाजिक कार्य के लिए निकाल लेती हैं। उन्हें किताबें पढऩा और ट्रैवलिंग पसंद है। समाज में कानूनों के प्रति जागरुकता लाने के लिए वे लम्बे समय से प्रयासरत हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के पहले जनवरी 2020 में उन्होंने एक लाख विद्यार्थियों को पोस्को एक्ट तथा यौन शोषण के प्रति जागरूक करने का अभियान शुरू किया था। जनवरी और फरवरी में करीब 10 हजार विद्यार्थियों को जागरूक किया। लेकिन बाद में कोविड-19 शुरू हो जाने के कारण शैक्षणिक संस्थान बंद हो गए।

बीना एक लाख बच्चों को जागरूक करने के लिए नियमित शैक्षणिक संस्थाओं में जाकर वहां के बच्चों से मुलाकात करती है और उन्हें पोस्को एक्ट तथा यौन शोषण के प्रति जागरूक कर रही है। वह भाठा हजीरा रोड पर श्री मोढेश्वरी हितवर्धक मंडल चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा संचालित श्रीमतीनिर्मला प्राणजीवन भगत वृद्धाश्रम में वरिष्ठ नागरिकों के साथ कुछ समय बीताती है। उन्होंने बताया कि यह वृद्धाश्रम उनके पिता के द्वारा शुरू किया गया है। पिता के निधन के बाद भाई राजेश भगत हाल में वृद्धाश्रम की देखभाल करते हैं।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned