पूरे दिन कलाइयों पर बांध सकेंगे राखी

पूरे दिन कलाइयों पर बांध सकेंगे राखी

Sunil Mishra | Publish: Aug, 14 2019 08:51:12 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

राखियों से बाजार गुलजार

सिलवासा. भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार रक्षाबंधन पर बाजार गुलजार हो गए हंै। दुकानों पर मिठाई एवं राखियों की बिक्री बढ़ गई है। दिन में कपड़े, मिठाई, फल आदि खरीदने के लिए बाजारों में रेलमपेल रही। महिलाओं ने राखी के साथ मिठाई, गिफ्ट पैकेट्स, ज्वैलरी खरीदे। पंचायत मार्केट, टोकरखाड़ा, किलवणी नाका, झंडा चौक पर लोगों की भीड़ देखी गई। घरेलू सामान, फल सब्जियां, पूजा सामग्री, कपड़े, मिठाई, इलेक्ट्रिक, मोबाइल फोन, रेडियो, घड़ी आदि खरीद के लिए बाजारों में हुजूम उमड़ पड़ा।

patrika

 

महिलाएं स्वदेशी राखियों को ज्यादा पसंद कर रही
इस बार दुकानों में चायनीज राखियां कम दिखाई दे रही हैं। महिलाएं स्वदेशी राखियों को ज्यादा पसंद कर रही हैं। दुकानों में रंग बिरंगी राखियां सजाकर व्यापारियों ने ग्राहकों को आकर्षित करने का प्रयास किया है। दुकानों में 5 रुपए से लेकर एक हजार रुपए तक की राखियां सजी हैं। ग्रामीण बाजार रखोली, मसाट, खानवेल, दादरा, नरोली, खडोली बाजार में राखियों की अनेक वैरायटी उपलब्ध हंै। रक्षाबंधन का त्योहार हर भाई-बहन के लिए बेहद खास होता है। बहन भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधकर अपनी सुरक्षा का वचन मांगती हैं। रक्षासूत्र बांधने के बाद बहन भाई के माथे पर तिलक लगाकर उसकी आरती करती है।
दिनभर बंधेंगी राखियां:- इस बार रक्षाबंधन पर बहनें अपने भाई की कलाई पर पूरे दिन राखी बांध सकेंगी। ज्योषियों के अनुसार वैसे तो हिन्दू धर्म में भाई की कलाई पर राखी बांधने को कोई भी समय अशुभ नहीं माना जाता है, परन्तु भाई की दीर्घायु व असीम खुशियों की शुरुआत शुभ मुहूर्त में की जाए तो कष्ट पास में भी नहीं भटकते। पंडित धीरज जोशी के अनुसार इस बार सवेरे 5.53 बजे से सायं 17.58 बजे तक राखी बांधने का शुभ मुहूर्त है। अपरान्ह मुहूर्त 13.43 से 16.20 बजे तक है। भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जा जाती है। अच्छी बात यह है कि इस बार भद्राकाल का समय सूर्य उदय से पहले समाप्त हो रहा है। रक्षाबंधन की पूजा तक भाई-बहन को भूखे पेट रहना चाहिए। खाली पेट पूजा करने से रिश्ते में पवित्रता प्रगाढ़ हो जाती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned