पेड़ों को रक्षासूत्र बांधकर मनाया रक्षाबंधन

पेड़ों को रक्षासूत्र बांधकर मनाया रक्षाबंधन

Sunil Mishra | Publish: Aug, 14 2019 09:30:35 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

पर्यावरण की सुरक्षा का दिया संदेश

वापी. ज्ञानगंगा स्कूल में बुधवार को पेड़ों को रक्षासूत्र बांधकर स्कूल के बच्चों ने रक्षाबंधन मनाया और उनकी सुरक्षा का संकल्प लिया। सुबह स्कूल में अनोखे तरीके से विद्यार्थियों ने शिक्षकों के साथ यह पर्व मनाया। पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पेड़ों के महत्व को देखते हुए विद्यार्थियों ने स्कूल परिसर में पेड़ों को रक्षासूत्र बांधा और उनकी पूजा की। विद्यार्थियों ने इस दौरान पेड़ों की रक्षा का संकल्प भी लिया। स्कूल ट्रस्टी संदीप पटेल ने बताया जल, अग्नि, पृथ्वी के साथ पेड़ों की पूजा करने की परंपरा भारतीय संस्कृति में पुरानी है। वृक्ष हमसे कुछ नहीं लेते हैं, लेकिन उनसे मनुष्य को शुद्ध हवा, फल, स्वच्छ एवं शीतल वातावरण प्राप्त होता है। पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति बच्चों को स्कूल स्तर से ही जागरूक कर उनका जीवन में वृक्षों का महत्व बताने के लिए यह अनूठा रक्षाबंधन मनाया गया। इसके अलावा स्कूल में पौधारोपण भी किया गया। जिसमें बच्चों ने भी उत्साह के साथ भाग लिया।

 

patrika


थाने में मनाया रक्षाबंधन
वांसदा. महिला सुरक्षा समिति द्वारा बुधवार को वांसदा थाने में रक्षाबंधन मनाया गया। इसके अंतर्गत महिला सुरक्षा समिति की बहनों ने पीएसआई वसावा और पुलिस स्टाफ को राखी बांधकर मिठाई खिलाई। उत्साहपूर्ण माहौल में रक्षाबंधन मनाकर सभी ने पर्व की खुशियां साझा की।

 

patrika

रक्षाबंधन की पूर्व संध्या पर बाजारों में भीड़
नवसारी. श्रावणी पूर्णिमा को भाई बहन के पवित्र प्रेम का त्योहार रक्षाबंधन मनाया जाएगा। भाइयों की कलाई पर राखी बांधने के बाद मिठाई खिलाकर जीवन में हमेशा मिठास बने रहने की कामना करती हैं। यह त्योहार गुरुवार को मनाया जाएगा। इसकी पूर्व संध्या पर बुधवार को जिले के गणदेवी, बिलीमोरा, चिखली, विजलपोर, मरोली समेत अन्य शहरों व कस्बों में बाजार में खरीदारी के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी। महिलाओं की भीड़ राखी व मिठाई की दुकान पर बहुत ज्यादा रही। अच्छी ग्राहकी से व्यापारियों में भी खुशी देखी गई। अन्य दिनों की अपेक्षा बस व ट्रेनों में भी ज्यादा भीड़ रही।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned