Corona: नेपाल से लौटे यात्रियों की रिपोर्ट नेगेटिव

कोरोना वायरस का प्रकोप
सिलवासा में ही रुके थे


Corona virus outbreak
Stayed in silvassa

By: Sunil Mishra

Updated: 04 Apr 2020, 08:28 PM IST

सिलवासा. गत दिनों नेपाल से सिलवासा लौटे सभी 46 तीर्थयात्रियों का कोरोना वायरस रिपोर्ट नेगेटिव आई है। दादरा नगर हवेली में शुक्रवार तक कोविड-19 संक्रमण का एक भी मरीज नहीं मिला है। जिले को संक्रमण मुक्त बनाए रखने के लिए प्रतिदिन हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर खांसी, बुखार, जुकाम आदि की जानकारी लोगों से ले रही है।
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए 14 अप्रेल तक लॉकडाउन है। स्वास्थ्य विभाग प्रदेश में संक्रमण को रोकने के लिए प्रयासों में जुटा हुआ है। देश-विदेश से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। संदिग्ध मरीजों की पहचान कर सैंपल लिए जा रहे हैंं। विदेश व बाहरी राज्यों से लौटने वालों पर नजर रखी जा रही है। कलक्टर संदीप कुमार सिंह ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आमजन का सहयोग और सतर्कता जरूरी है इसलिए लोग घरों में रहे। कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर प्रशासन मुस्तैदी के साथ जुटा हुआ है। प्रशासन की ओर से देश-विदेश से आए लोगों को आइसोलेट किया जा रहा है। लॉकडाउन में फंसे लोगों के लिए भोजन, पानी आदि की व्यवस्था की जा रही है। लोगों को घरों पर साफ-सफाई, बार-बार साबुन से हाथ धोने, मुंह पर मास्क रखने की सलाह दी गई है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए प्रशासन की टीम लोगों को जागरूक करने में जुटी है। लोग अब अपने अपने घरों की साफ-सफाई व दवा छिड़काव करने में कोताही नहीं बरत रहे हैं।

https://www.patrika.com/bollywood-news/kanika-kapoor-corona-virus-latest-report-negative-5967207/

https://www.patrika.com/bollywood-news/shreya-ghoshal-talks-to-her-fans-on-social-media-5966940/

https://twitter.com/nifaadaman/status/1244291928817930241?s=20

खाती वाला टेंक गोविंद धाम मे गरीबों के लिए राशन के पैकेट तैयार करती सेवादार महिलाएं

उपभोक्ताओं को राशन
प्रशासन ने संघ प्रदेश के बीपीएल, एपीएल सहित सभी राशनकार्ड धारकों को राशन देना शुरू कर दिया है। संघ प्रदेश के सभी 65 हजार राशनकार्ड धारकों के लिए तत्काल प्रभाव से सोशल डिस्टेंस के साथ राशन उपलब्ध करा दिया है।
प्राइवेट क्लीनिक चालू
लॉकडाउन में सभी प्राइवेट अस्पताल, नर्सिंग होम, डिस्पेंसरी चालू रखी गई हैं। सरकारी अस्पताल की तरह प्राइवेट अस्पतालों में भी ओपीडी 24 घंटे खुली है। मामूली बीमारी पर अस्पतालों में जाने की मनाही हैं, क्योंकि हॉस्पिटल में ज्यादा संक्रमण का खतरा रहता है।

Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned