मनपा के रुख से सूरत टेक्सटाइल मार्केट ट्रेडर्स में नाराजगी

विपक्ष इस मामले में मनपा प्रशासन पर मनपा को आर्थिक नुकसान की बात कह रहा

By: विनीत शर्मा

Published: 07 Mar 2020, 06:30 PM IST

सूरत. सूरत टैक्सटाइल मार्केट ट्रेडर्स में मार्केट की लीज को लेकर मनपा के रुख से निराशा का माहौल है। उनका आरोप है कि सूरत के विकास में योगदान देने वाले कपड़ा कारोबारियों के प्रति मनपा प्रशासन का रुख सहयोगात्मक नहीं है।

सूरत टैक्सटाइल मार्केट की लीज का मामला कारोबारियों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। एक ओर मार्केट के व्यापारी मनपा प्रशासन के रुख को लेकर नाराज हैं, उधर विपक्ष इस मामले में मनपा प्रशासन पर मनपा को आर्थिक नुकसान की बात कह रहा है। कारोबारियों का कहना है कि रिंगरोड पर स्थित सूरत टेक्सटाइल मार्केट शहर में सबसे पुराना मार्केट है। देश-दुनिया में शहर की टैक्सटाइल सिटी के रूप में पहचान की राह इसी मार्केट से निकली थी।

उनका आरोप है कि मार्केट की लीज पूरी होने पर सूरत मनपा प्रशासन ने अप्रत्याशित रूप से दरें बढ़ा दीं। इससे सूरत टैक्सटाइल मार्केट के व्यापारियों में निराशा है। स्थानीय स्तर पर यह मामला नहीं सुलझने पर व्यापारियों के इस मुद्दे को गांधीनगर ले जाने की चर्चा भी बाजार में रही। एक ओर कारोबारियों को बढ़ाई गई दरें भी ज्यादा लग रही हैं, कांग्रेस नई लीज दर के बहाने मनपा प्रशासन पर निशाना साधते हुए मनपा की तिजोरी को चोट पहुंचाने का आरोप लगा रही है। विपक्ष के पार्षद इस मुद्दे पर सामान्य सभा में भी सत्तापक्ष को घेर चुका है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned