नोटबंदी के दौरान दो करोड़ की नोट छापी थी

नोटबंदी के दौरान दो करोड़ की नोट छापी थी

Dinesh M.Trivedi | Publish: Dec, 08 2018 10:25:11 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India


- जाली नोट मामले का वांछित गिरफ्तार

सूरत. क्राइम ब्रांच ने पिछले दिनों उधना में पकड़ी गई जाली नोट के मामले में वांछित मुख्य सूत्रधार को कुंभारिया क्षेत्र से गिरफ्तार कर दस दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस के मुताबिक भावनगर जिले के गुंदी कोलयाक निवासी सचिन परमार ने प्रदेश के विभिन्न शहरों में जाली नोट भुनाने के षडयंत्र का मुख्य सूत्रधार है।

२३ वर्षीय सचिन ने स्कैनर प्रिंटर की मदद से नोट बंदी के दौरान दो हजार व पांच सौ रुपए की दर के करीब दो करोड़ रुपए जाली नोट तैयार किए थे। जिन्हें अपने विभिन्न परिचितों को कमीशन का लालच देकर प्रदेश के अलग अलग शहर में भुनाने का प्रयास किया था। इसी क्रम में उसके गांव के दो युवक पिछले दिनों उधना क्षेत्र में पकड़े गए थे।

उनसे पूछताछ में सचिन का नाम सामने आने पर उसकी खोज शुरू कर दी गई थी। इस बीच मुखबिर से शुक्रवार रात सचिन के कुंभारिया गांव में एक रिश्तेदार के घर आने की सूचना मिलने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि सचिन पूर्व में सौराष्ट्र के भावनगर व अमरेली में १.१० करोड़ रुपए की जाली नोट के साथ पकड़ा जा चुका है।


युवक के ऑन लाइन खाते से ३४ हजार पार
इसी तरह एक अन्य मामले में हेकर ने युवक के बैंक खाते से ३४ हजार रुपए पार कर दिए। पुलिस के मुताबिक जहांगीरपुरा सुलेखन बिल्ंिडग निवासी जैनिश पुत्र राजेश पंचाल का उधना स्थित ओरियंटल बैंक में ऑन लाइन खाता है। गत २३ नवम्बर को बैंक में अपनी पासबुक अपटेड करवाने गए तो खाते में ३४ हजार रुपए कम मिले। १५ नवम्बर के बाद किसी ने उसका बैंक खाता हेक कर रुपए निकाल लिए। बैंक से इस बारे में जानकारी मिलने पर उसने सलाबतपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई।

पुलिस के मुताबिक जहांगीरपुरा सुलेखन बिल्ंिडग निवासी जैनिश पुत्र राजेश पंचाल का उधना स्थित ओरियंटल बैंक में ऑन लाइन खाता है। गत २३ नवम्बर को बैंक में अपनी पासबुक अपटेड करवाने गए तो खाते में ३४ हजार रुपए कम मिले। १५ नवम्बर के बाद किसी ने उसका बैंक खाता हेक कर रुपए निकाल लिए। बैंक से इस बारे में जानकारी मिलने पर उसने सलाबतपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई।

Ad Block is Banned