अपनी जरूरत के लिए रखो इनका खयाल

अपनी जरूरत के लिए रखो इनका खयाल

Vineet Sharma | Publish: Sep, 07 2018 08:54:02 PM (IST) Surat, Gujarat, India

नदियों को प्रदूषण मुक्त रखने के लिए जीपीसीबी की सलाह

वापी. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जिले की दमण गंगा, कोलक, पार, औरंगा समेत सभी नदियों को प्रदूषण मुक्त रखने में लोगों से जागरुकता का आह्वान किया गया है।

जीपीसीबी की ओर से गणेश महोत्सव को इको फ्रेन्डली आयोजन बनाने की सलाह देते हुए पीओपी की मूर्तियों को नदी में प्रवाहित न करने का अनुरोध किया है। जीपीसीबी के प्रादेशिक अधिकारी गज्जर के अनुसार पीओपी की मूर्तियां पानी में जल्दी नहीं गलती हैं और उनसे जीवसृष्टि को भी नुकसान होता है।

उन्होंने गणेश मंडलों को भी मिट्टी की मूर्तियों के गणेश जी की स्थापना की सलाह देते हुए मूर्तियों की सजावट में भी केमिकल रंगों व जीवसृष्टि के लिए हानिकारक तत्वों के उपयोग से बचने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि नदी में कपड़ा, थर्मोकोल समेत जैसी वस्तुओं को मूर्ति के साथ प्रवाहित न करने की भी अपील की है। साथ ही छोटी प्रतिमाओं को कृत्रिम तालाब में विसर्जित करने का आह्वान भी जीपीसीबी की ओर से किया गया है।

गैस रिसाव से पीडि़त श्रमिक अस्पताल में भर्ती

जीआईडीसी के फस्र्ट फेज स्थित मेगा फाइन कंपनी में काम के दौरान गैस लगने पर बेहोश श्रमिक को ऊषा शेल्बी अस्पताल मे भर्ती करवाया गया है। जानकारी के अनुसार आलोक गयानंद यादव (24) रात को कंपनी मे ड्यूटी पर था। इस दौरान रात करीब डेढ़ बजे कंपनी में डीपीए प्रोडक्ट बनने वाली जगह पर वह मशीन साफ कर रहा था। इस दौरान वहां रखे केमिकल ड्रम का ढक्कन खुल जाने से उसे गैस लग गई। गैस के प्रभाव से वह चक्कर खाकर गिर गया। इसकी जानकारी साथी श्रमिक अभिषेक सिंह को होने पर अन्य लोगों को बताया गया। जिसके बाद उसे चणोद स्थित ऊषा सेल्बी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अस्पताल द्वारा पुलिस को सूचना मिलने पर जीआईडीसी पुलिस ने पहुंचकर उसका बयान लिया। मामला दर्ज कर आगे की छानबीन पुलिस कर रही है।

Ad Block is Banned