14 अवैध दुकानें सील

14 अवैध दुकानें सील

Dinesh O.Bhardwaj | Updated: 20 Dec 2018, 10:32:31 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए नीति बनाने की मांग

सूरत. आवासीय टेनामेंट में अवैध तरीके से दुकानें बनाने को लेकर हरकत में आए मनपा के लिम्बायत जोन ने गुरुवार को डुंभाल टेनामेंट में 14 दुकानों को सील कर दिया। लिम्बायत जोन से मिली जानकारी के अनुसार डुंभाल टेनामेंट के कुछ लोगों ने मनपा की मंजूरी के बिना आवसीय मकानों को दुकानों में परिवर्तित कर दिया था और व्यापार कर रहे थे। जोन की ओर से उन्हें नोटिस देकर दुकानें बंद करने के लिए कहा गया था। इसके बावजूद दुकानें बंद नहीं की गईं। गुरुवार को लिम्बायत जोन की टीम ने डुंभाल टेनामेंट में पहुंचकर अवैध तरीके से बनाई गई 14 दुकानों को सील कर दिया। इसके अलावा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई भी की गई।

बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए नीति बनाने की मांग

उद्योगों के कारण शहर में बढ़ते प्रदूषण पर काबू पाने के लिए मनपा की ओर से प्रदूषण नीति बनाने की मांग कांग्रेस पार्षद असलम साइकिलवाला ने उठाई है। गुरुवार को इस संदर्भ में उन्होंने मनपा आयुक्त एम.थेन्नारसन को पत्र लिखा।
साइकिलवाला ने पत्र में लिखा है कि मनपा क्षेत्र में उद्योग बढ़ते जा रहे हंै, जिनसे फैलने वाले प्रदूषण का असर रिहाइशी इलाकों में रहने वाली जनता पर हो रहा है। हवा में घुलता जहर बड़ी समस्या बन रहा है। गुजरात पॉल्यूशन नियंत्रण बोर्ड कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है तो मनपा की भी कोई विशेष नीति नहीं है, जिससे प्रदूषण फैलाने वालों पर किसी तरह का अंकुश देखने को नहीं मिल रहा है। प्रदूषण के कारण जानवरों के स्वास्थ्य पर भी गंभीर असर हो रहा है। उन्होंने मांग की कि मनपा ने जिस तरह पानी नीति, गटर नीति, पार्किंग पॉलिसी बनाई है, उसी तर्ज पर प्रदूषण नीति भी बनानी चाहिए, जिससे बढ़ते प्रदूषण पर काबू पाया जा सके। गौरतलब है कि इन दिनों शहर में प्रदूषण का प्रमाण काफी बढ़ा हुआ है। सुबह और देर रात एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार पहुंच जाता है।


पत्रिका ने उठाया था मुद्दा


सर्दी की शुरुआत के साथ ही शहर में प्रदूषण बढ़ गया है। इससे कुछ लोग बीमार भी हुए हैं। बढ़ते प्रदूषण और लोगों के स्वास्थ्य पर होने वाले असर का मुद्दा राजस्थान पत्रिका ने उठाया और लगातार खबरों के जरिए प्रशासन का ध्यान इस ओर खींचा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned