सूरत में रथयात्रा के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम, 2500 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात

सूरत में रथयात्रा के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम, 2500 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Jul, 13 2018 09:12:31 PM (IST) Surat, Gujarat, India

आज भक्तों के बीच होंगे जगन्नाथ
हजारों हरिभक्तों के हाथों में होगी रथ की रास, जगह-जगह होगा स्वागत

सूरत.

सत्रह किलोमीटर लम्बी रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ आषाढ़ शुक्ल दूज के मौके पर शनिवार को हजारों हरिभक्तों को दर्शन देने के लिए नगर भ्रमण पर निकलेंगे। रथयात्रा को लेकर सूरत में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। शहर में इस्कॉन के अलावा महिधरपुरा, अमरोली, कनकपुर-कनसाड और पांडेसरा में रथयात्राएं हर्षोल्लास के साथ निकलेंगी।
मुख्य रथयात्रा की शुरुआत इस्कॉन मंदिर समिति, जहांगीरपुरा की ओर से रेलवे स्टेशन क्षेत्र से दोपहर तीन बजे होगी। दोपहर १२ बजे मंदिर में आरती के बाद भगवान जगन्नाथ, भ्राता बलराम और बहन सुभद्रा की मूर्तियों को स्टेशन लाया जाएगा। भगवान के दोमंजिला रथ को पुष्पों की बांदनवार से शृंगारित किया जाएगा। शनिवार सुबह चार बजे रथ रेलवे स्टेशन लाया जाएगा और शृंगार प्रक्रिया शुरू होगी। इसके लिए सैकड़ों किलो फूलों का उपयोग किया जाएगा। प्रशासनिक अधिकारी और अन्य आमंत्रित मेहमान तीन बजे आरती करेंगे। बाद में रथ में सवार भगवान नगर भ्रमण के लिए रवाना होंगे। यात्रा में इस बार कई झांकियां और बैंड पार्टियां शामिल रहेंगी। यात्रा का दिल्ली गेट, सहारा दरवाजा, कपड़ा बाजार, उधना दरवाजा, मजूरा गेट, सरदार ब्रिज, गुजरात गैस सर्किल समेत कई स्थानों पर विभिन्न संस्थाओं की ओर से स्वागत किया जाएगा। यात्रा के दौरान मार्ग में भक्तों को प्रसाद वितरण किया जाएगा।
बग्गी में होंगे सवार
महिधरपुरा क्षेत्र में रथयात्रा का आयोजन मोटा गोडिया गोपाल मंदिर आयोजन समिति की ओर से शाम को किया जाएगा। भगवान की आरती के बाद संतवृंद के सानिध्य में भगवान जगन्नाथ भ्राता बलराम और बहन सुभद्रा बग्गी में सवार होकर गली-मोहल्ले से होकर गुजरेंगे। अमरोली में लंकाविजय हनुमान मंदिर, पांडेसरा के जगन्नाथ मंदिर और कनकपुर-कनसाड में भी रथयात्राएं निकलेंगी, जिनमें सैकड़ों श्रद्धालु शामिल होंगे।
जहांगीरपुरा में मंदिर मार्जन
रथयात्रा से पहले शनिवार को मंदिर मार्जन की विधि जहांगीरपुरा के इस्कॉन मंदिर में की गई। श्रद्धालुओं ने मंदिर परिसर में भगवान जगन्नाथ की जय-जयकार के साथ साफ-सफाई की। आषाढ़ शुक्ल दूज पर शनिवार को भगवान जगन्नाथ रोगमुक्त होकर गुंडिचा मौसी के घर जाएंगे। इस दौरान वह जनता को दर्शन देंगे।
सरदार ब्रिज बंद रहेगा
शहर पुलिस आयुक्त सतीष शर्मा ने बताया कि रथ यात्राओं के दौरान शांति और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए है। २५०० से अधिक पुलिस जवानों को सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया है। आपत हालात से निपटने के लिए क्विक रिस्पोंस टीमें भी बनाई गई हैं। कई स्थानों पर यातायात को कुछ समय के लिए वैकल्पिक रास्तों पर डाइवर्ट किया जाएगा। शनिवार शाम पांच बजे से यात्रा निकलने तक गुजरात गैस सर्किल की ओर से सरदार ब्रिज बंद रहेगा। शुक्रवार को पुुलिस ने जहांगीरपुरा मंदिर, रिंग रोड, महिधरपुरा, अमरोली, पांडेसरा और सचिन में यात्रा मार्गों पर सुरक्षा व्यवस्था की रिहर्सल की। आलाधिकारियों ने तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

पुलिस बंदोबस्त
२ संयुक्त पुलिस आयुक्त
३ पुलिस उपायुक्त
६ सहायक पुलिस आयुक्त
३१ पुलिस निरीक्षक
९९ पुलिस उप निरीक्षक
१२३५ पुलिस जवान
७० महिला पुलिसकर्मी
२३९ ट्रैफिक ब्रिगेड जवान
९२० होमगार्ड जवान
१ कंपनी रिजर्व पुलिस बल
११ गश्ती पुलिस वाहन
१४ ट्रैफिक क्रेन

Ad Block is Banned