एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त

एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त
एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त

Sanjeev Kumar Singh | Updated: 13 Sep 2019, 09:47:16 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

बान्द्रा-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में सूरत डिप्टी एसएस कॉमर्शियल ने की कार्रवाई

सूरत.

सूरत स्टेशन पर यात्रियों को रेल नीर का पानी उपलब्ध नहीं हो रहा है। ट्रेनों में भी स्टॉल संचालकों की मदद से खुले आम दूसरे ब्रांड का पानी बेचा जा रहा है। सूरत से होकर गुजरने वाली बान्द्रा-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में गुरुवार शाम रेल नीर के स्थान पर दूसरे ब्रांड का पानी थर्ड एसी कोच में चढ़ाते हुए पकड़ा गया। एसी कोच से अन्य ब्रांड की पानी की बोतलों के 12 कार्टून बरामद हुए। राजस्थान पत्रिका ने 29 जून को सूरत स्टेशन पर रेल नीर की सप्लाई में गड़बड़ी की खबर प्रकाशित की थी, लेकिन अब भी यह गोरखधंधा धड़ल्ले से चल रहा है।

एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त

पश्चिम रेलवे के मुम्बई रेल मंडल के ए1 ग्रेड वाले सूरत स्टेशन पर यात्रियों को रेल नीर उपलब्ध नहीं होता। मुम्बई से शुरू होने वाली ट्रेनों की पेन्ट्रीकार में सूरत स्टेशन से दूसरे ब्रांड का पानी धड़ल्ले से चढ़ाया जाता है। स्थानीय रेल अधिकारियों की लापरवाही के कारण यात्रियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ हो रहा है। पश्चिम रेलवे के मुम्बई प्रिंसिपल चीफ कॉमर्शियल मैनेजर ने सभी रेल मंडलों को मई में एक सर्कुलर जारी कर स्टेशनों पर रेल नीर उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए थे, लेकिन सूरत स्टेशन पर यात्रियों को दूसरे ब्रांड का पानी मिलता है।

तेजस नौसेना में शामिल होने के लिए तैयार, गोवा में समुद्र तट पर की गई अरेस्ट लैंडिंग

सूत्रों के अनुसार 22451 बान्द्रा टर्मिनस-चंडीगढ़ एक्सप्रेस बान्द्रा से दोपहर 12.15 बजे रवाना होकर 3.55 बजे सूरत स्टेशन पहुंची थी। ट्रेन प्लेटफॉर्म संख्या एक पर आई थी। कुछ लोग तृतीय श्रेणी शयनयान के कोच संख्या बी-3 में दूसरे ब्रांड के पानी की बोतलें चढ़ाने लगे। प्लेटफॉर्म पर घूम रहे डिप्टी एसएस कॉमर्शियल रंजन कुमार का ध्यान इस ओर गया तो उन्होंने स्टेशन मैनेजर सी.एम. खटीक को जानकारी दी।

खटीक ने टीसी संग्रहक कार्यालय में सूचना देकर रेलवे सुरक्षा बल के जवानों को बान्द्रा-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के बी-3 कोच पर पहुंचने का एनाउंसमेंट करवाया। बाद में प्लेटफॉर्म संख्या एक पर लारी लगाने वाले कर्मचारी तथा प्वॉइंटसमैन की मदद से एसी कोच से सभी कार्टून उतरवा लिए गए।

एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त

सुरक्षा एजेंसी ने बंद कर रखी हैं आंखे

सूरत स्टेशन से प्रतिदिन 350 से अधिक गाडिय़ां गुजरती हैं। इन सभी में पेन्ट्रीकार की सुविधा है। ट्रेनों में रेल नीर के स्थान पर दूसरे ब्रांड के पानी की सप्लाई धड़ल्ले से की जा रही है। सूरत स्टेशन पर प्रतिदिन दूसरे ब्रांड का पानी ट्रेनों में चढ़ाया जाता है। स्टेशन के किसी अधिकारी को पता नहीं चलता कि यह पानी कब स्टेशन आता है और ट्रेन के यात्रियों तक पहुंच जाता है।

सोनिया गांधीः कांग्रेस सरकारें पेश करें जवाबदेह-पारदर्शी शासन की मिसाल

सूरत स्टेशन से शुरू होने वाली ताप्ती गंगा एक्सप्रेस समेत सैकड़ों ट्रेनों की पेन्ट्रीकार में सूरत स्टेशन से रेल नीर के स्थान पर दूसरे ब्रांड का पानी चढ़ाया जाता है। बान्द्रा-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में तृतीय श्रेणी वातानुकूलित शयनयान से पकड़े गए बारह कार्टून पेन्ट्रीकार के इस्तेमाल के लिए रखे होने की आशंका है। फिलहाल ठेकेदारों ने पेन्ट्रीकार में सीधे दूसरे ब्रांड का पानी चढ़ाना बंद कर दिया है।

एसी कोच में छिपाकर ले जा रहे दूसरे ब्रांड के पानी के बारह कार्टून जब्त
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned