शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का स्लैब धराशायी, तीन घायल

शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का स्लैब धराशायी, तीन घायल

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Nov, 10 2018 08:10:23 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

उधना रोड नंबर जीरो पर हुआ हादसा

सूरत. उधना रोड नंबर जीरो उधना रेलवे स्टेशन के सामने एक शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का स्लैब धराशायी होने से एक बच्चे समेत तीन जनें घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है।

 


उधना रोड नंबर जीरो पर शाह कॉम्प्लेक्स के नाम से 35 साल पुरानी इमारत है। शनिवार को पुरानी इमारत का स्लैब अचानक धराशायी हो गया। मलबा निचे की दुकानों पर गिरने से दुकान में मौजूद लोग मलबे में दब गए। हादसे को लेकर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। लोगों ने मलबा हटाकर लोगों को बाहर निकाला। हालांकि हादसे में एक बच्चे समेत तीन जनें घायल हो गए। तीनों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि इमारत जर्जर होने के कारण मनपा की ओर से नोटिस दिया गया था। हालांकि डिमोलिशन किया जाता उससे पहले हादसा हो। हादसे के बाद मनपा की ओर से सभी दुकानों को खाली करवा लिया गया है।

 



सुप्रीम कोर्ट के आदेश और पुलिस आयुक्त की अधिसूचना की उड़ी धज्जियां



सूरत. बढ़ते प्रदूषण पर काबू पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से दीपावली पर रात आठ से दस बजे तक ही पटाखें फोडऩे के लिए दिए निर्देश के बाद पुलिस आयुक्त की ओर से जारी अधिसूचना की दीपावली और न्यू इयर पर धज्जियां उड़ती दिखी। लोगों ने पुलिस कार्रवाई की फिक्र किए बिना रात से लेकर सुबह तक जमकर पटाखें जलाए। उधर, पुलिस ने भी मानों अपने कान बंद कर लिए हो तीन दिनों में एक भी व्यक्ति के खिलाफ अधिसूचना भंग का एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया।

 


पटाखें फोडऩे पर रोक लगाने की मांग के साथ दायर पिटीशन पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि दिपावली या अन्य त्योहारों पर सिर्फ रात आठ से दस बजे तक ही पटाखें फोड़े जा सकतें है। सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद दिपावली से एक दिन पहले अहमदाबाद पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने पर दो जनों को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद सूरत पुलिस भी एक्शन मॉड में आ गई थी। पुलिस आयुक्त ने अधिसूचना जारी कर 5 नवम्बर से 25 नवम्बर तक रात आठ से दस बजे के अलावा पटाखें फोडऩे पर प्रतिबंध लगा दिया था। उन्होंने अधिसूचना में बताया था कि यदि अधिसूचना का कोई उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं पुलिस की ओर से दावा किया गया था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करवाने के लिए पुलिस भी गश्त लगाएगी, लेकिन पुलिस आयुक्त की अधिसूचना मानों कागज पर ही धरी की धरी रही गई हो, ऐसा माहौल दीपावली और नए साल के दिन देखने मिला। लोग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश और पुलिस आयुक्त की अधिसूचना की धज्जियां उड़ाते दिखें। लोगों ने रात से लेकर सुबह और दिन में भी जमकर पटाखें जलाए। उन पर पुलिस कार्रवाई की चेतावनी का कोई असर देखने नहीं मिला। पुलिस ने भी मानों सिर्फ अधिसूचना जारी कर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर ली हो इस तरह किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की।

Ad Block is Banned