वापी में 17 जुलाई तक चार बजे बंद हो जाएंगी दुकानें


कोरोना को नियंत्रित करने का प्रयास


Attempt to control corona

By: Sunil Mishra

Published: 07 Jul 2020, 01:10 AM IST

वापी. कोरोना के बढ़ते मामले को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन कई कदम उठा रहा है।
सोमवार को वापी सेवा सदन में तहसीलदार की अध्यक्षता में व्यापारी मंडल की बैठक हुई। इसमें कोरोना के कारण उत्पन्न हो रही गंभीर स्थिति से लोगों को अवगत करवाया गया। बाद में व्यापारियों से रायशुमारी के बाद सात जुलाई से 17 जुलाई तक टाउन और जीआईडीसी विस्तार की दुकानों को सुबह सात बजे से चार बजे तक ही खुला रखने की सूचना दी गई। दोपहर बाद करीब चार बजे हुई इस बैठक में कलक्टर कार्यालय के अधिकारी भी मौजूद थे। इस निर्णय के अनुसार अनाज से लेकर सभी प्रकार की दुकानें व व्यापारिक प्रतिष्ठिान शाम चार बजे के बाद बंद हो जाएंगे। व्यापारी मंडल ने भी कोरोना को रोकने के लिए प्रशासन को पूरा सहयोग का भरोसा दिया। हालांकि देर शाम तक इस निर्णय को लेकर ग्राम्य क्षेत्र में आने वाली दुकानों को लेकर असमजंस रहा। इस क्षेत्र के कई दुकनदारों ने बताया कि अभी तक उन्हें ऐसे निर्णय की जानकारी नहीं है।

covid-19.jpg

वलसाड में व्यापारियों का स्वैच्छिक लॉकडाउन
वलसाड. कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए प्रशासन हर संभव कोशिश कर रहा है। नपा के साथ हुई बैठक के बाद व्यापारियों ने सात से 13 जुलाई तक अपनी दुकानें सुबह नौ से शाम चार बजे तक ही खुली रखने का निर्णय लिया। कोरोना के केस बढऩे से कलक्टर ने भी नियमों को सख्ती से लागू करवाने की हिदायत दी है।
सोमवार को नगर पालिका ने वलसाड के कपड़ा व्यापारी, अनाज, सोना-चांदी, सब्जी समेत सभी दुकानदारों और व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक की। इसमें चर्चा के बाद सात जुलाई से 13 जुलाई तक सभी दुकानें सुबह नौ से शाम चार बजे तक खुली रखने का फैसला किया गया। इसमें सब्जी मंडी के विक्रेताओं व पथारी वालों को भी शाम चार बजे अपना काम बंद करने की सलाह दी गई। इस पर सख्ती से अमल कराने के साथ ही लोगों को मास्क पहनने, सोशल डिस्टेन्स रखने की भी सूचना दी गई है। इससे पहले होलसेल व्यापारियों ने छह जुलाई से ही अपनी दुकानें दोपहर दो बजे तक खुला रखने का निर्णय किया था।

वापी में 17 जुलाई तक चार बजे बंद हो जाएंगी दुकानें

आरोग्य भारती ने किया आर्सेनिक अल्बम होम्योपैथिक दवा का वितरण
वापी. कोरोना से लडऩे के लिए स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त सेवाभावी संस्थाओं की ओर से भी आयुर्वेदिक दवाएं और काढ़ा वितरण हो रहा है। इसके अंतर्गत आरोग्य भारती संस्था की ओर से कंपनी के श्रमिकों की रोगप्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि के लिए आर्सेनिक एल्बम-30 आयुर्वेदिक दवा का वितरण किया गया।
संस्था के संयोजक नीरज तिवारी ने बताया कि वापी के साथ साथ सिलवासा की कंपनियों में दवा का वितरण श्रमिकों के बीच हो रहा है। थर्ड फेस की सुप्रिया डाइकेम और सिलवासा की दीपक पोलिएस्टर व अन्य कंपनी में करीब दो हजार लोगों को यह दवा वितरित की गई। कई दिनों तक कंपनियों में आरोग्य भारती के अध्यक्ष कैलाश शर्मा के मार्गदर्शन में दवा का वितरण होगा।

Sunil Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned