scriptSmart City, City Road, Silvasa, Surat, Gujrat | स्मार्ट सिटी के बहाने फिर रास्तों की तोडफ़ोड | Patrika News

स्मार्ट सिटी के बहाने फिर रास्तों की तोडफ़ोड

दो वर्षों में शहर की सड़कें पांच बार खोदकर तोड़ी गई

सूरत

Published: December 07, 2021 06:47:35 pm

सिलवासा. पिछले दो वर्ष में शहर की सड़कें पांच बार खोदकर तोड़ी गई हंै। अब स्मार्ट सिटी में उन्नत रास्तों के बहाने सड़कों पर फिर बुलडोजर चल रहे हैं। पुरानी सड़कों की मरम्मत नहीं होने से लोग पहले से परेशान थे, अब नई तोडफ़ोड़ से यातायात व्यवस्था चरमराने लगी है।
सरकारी विभागों में विकास कार्यो की योजनाओं में आपसी तालमेल नहीं होने का खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा हैै। पेयजल, गैस लाइन, सीवरेज, गटर व विद्युत केबलिंग जैसे कार्यो को लेकर शहर में कई बार रास्तों को तोड़ा गया है। शहर में वर्ष 2006 में पहली बार गठित नगरपालिका द्वारा अगले 40-50 वर्ष के विकास को ध्यान में रखते हुए रास्तों का विस्तारण, गटर निर्माण व डिवाइडर बनाए गए थे। सड़कों के नवनिर्माण के बाद उसमें लाखों रुपए के पेड़ लगाकर हरित सिलवासा का संदेश जारी किया था। अभी 16 साल बीते हैं कि शहर में स्मार्ट सिटी के नाम पर नवीनीकरण को लेकर फिर रास्तों को तोड़ा-मरोड़ा जा रहा है।
पिपरिया से चार रास्ता, टोकरखाड़ा, मसाट तक डिवाइडर तोड़े जा रहे हैं। अधिकारियों का कहना कि स्मार्ट सिटी योजना में नए सिरे से रास्ते और डिवाइडर बनेंगे। यह योजना कितने वर्षो के लिए कारगर है, इसके बारे में अधिकारी जवाब देने से बच रहे हैं। स्मार्ट सिटी के नाम पर सड़क तोडऩे के बाद बिना काम पूरा किए गड्ढे अधर में छोड़ दिए जाते हैं। लोगों का कहना है कि सभी योजनाओं के कार्य एक साथ, एक समय व एक ही खुदाई में पूरे किए जा सकते थे।
विभागीय योजनाएं व कार्यो का तालमेल कलेक्टर के जिम्मेदारी पर निर्भर है। विद्युत केबलिंग, गटर व पेयजल की योजना पूर्व कलेक्टर घनश्याम मीणा के समय बनी थी, उसके बाद पांच कलेक्टर बदल गए हैं। विभागों के विभिन्न कार्यो में आपसी तालमेल नहीं होने से पहले पेयजल के लिए सड़के तोड़ी गई, इसके बाद गैस लाइन, सीवरेज, गटर व विद्युत केबलिंग के बहाने सड़कों को तोड़ा जा रहा है।
शहर को स्मार्ट सिटी में शामिल किया है, लेकिन सीवरेज, विद्युत केबलिंग को लेकर वार्ड व बस्तियों में सड़क को बीचो बीच खोदकर पाट दिया जाता है। हालत ऐसे बने है कि सड़क खुदाई के दौरान कभी पेयजल लाइन टूट जाती है, तो कभी जीएसएल की गैस लाइन।
स्मार्ट सिटी के बहाने फिर रास्तों की तोडफ़ोड
स्मार्ट सिटी के बहाने फिर रास्तों की तोडफ़ोड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.