SMC ELECTION: पेज कमेटी का फार्मूला फेल, कमेटी सदस्य नहीं पहुंचे मतदान केंद्र

सूरत महानगर के सभी 30 वार्डों में भाजपा का 58 हजार पेज कमेटियों का दावा, प्रत्येक पेज में 30 सदस्य और यूं संख्या 17 लाख 40 हजार जबकि कुल मतदान का आंकड़ा 15 लाख भी नहीं

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 21 Feb 2021, 08:17 PM IST

सूरत. स्थानीय निकाय चुनाव से पहले जिस तरह से भाजपा के पेज कमेटी अभियान ने समूचे सूरत महानगर में पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच जोर पकड़ा था, वैसा परिणाम रविवार को सूरत महानगरपालिका के चुनाव के दौरान देखने को नहीं मिला है। मतदान के प्रति उदासीनता इस कदर हावी रही कि भाजपा के दावे के मुताबिक 58 हजार पेज कमेटियों के कुल सदस्यों में से भी ढाई लाख सदस्य रविवार को मतदान केंद्रों तक ही नहीं पहुंचे हैं।
गतवर्ष नवम्बर में राज्य की आठ विधानसभा सीटों के उपचुनाव में भाजपा को जबर्दस्त सफलता हासिल हुई थी और इसमें भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल के पेज कमेटी अभियान के अभिनव प्रयोग को खूब महत्व दिया गया था। इस अभिनव प्रयोग को स्थानीय निकाय चुनाव में सूरत महानगरपालिका समेत प्रदेश की छह महानगरपालिका में आजमाने की कोशिशों में अकेले सूरत महानगर में 58 हजार करीब पेज कमेटियां गठित की गई। प्रत्येक पेज कमेटी में 30 सदस्यों के हिसाब से यह संख्या 17 लाख 40 हजार तक पहुंचती है। सूरत महानगर पालिका के 30 वार्डों के 3 हजार 185 मतदान केंद्रों के लिए 58 हजार पेज कमेटियां बनने के पीछे यह भी जानने को मिला है कि जब शहर में पेज कमेटियां बनाई जा रही थी तब सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता मनपा चुनाव में टिकट मिलने की आस लगाए बैठे थे।
अब जब रविवार को सूरत महानगरपालिका चुनाव का मतदान सम्पन्न हो गया तब मतदान प्रतिशत 43 फीसद करीब रहा है और इसके मुताबिक कुल मतदाताओं की संख्या 32 लाख 88 हजार में से 14 लाख 10 हजार करीब ने अपने मतों का उपयोग किया है। रविवार को मतदान करने वाले मतदाताओं की संख्या और भाजपा की 58 हजार पेज कमेटियों के 17 लाख 40 हजार सदस्यों की संख्या में ही 3 लाख 30 हजार का अंतर साफ दिख रहा है। इस अंतर से साफ जाहिर होता है कि भाजपा की पेज कमेटियों में जुड़े सदस्य स्वयं ही मतदान केंद्रों तक मतदान के लिए नहीं पहुंचे अन्यथा मतदान प्रतिशत में निश्चित तौर पर आसानी से 10-12 फीसदी की वृद्धि संभव हो सकती थी। उधर, इस संबंध में भाजपा के स्थानीय नेता फिलहाल किसी तरह की बयानबाजी से बचते नजर आए हालांकि उन्होंने इतना अवश्य बताया कि पेज कमेटी में 30 सदस्य अवश्य होते हैं, लेकिन सभी मतदान केंद्रों के सभी पेज में यह संभव भी नहीं था।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned