मच्छरों के उत्पात पर मनपा गंभीर

स्थाई समिति की बैठक में उठा मामला

By: विनीत शर्मा

Updated: 07 Mar 2020, 06:40 PM IST

सूरत. कोरोना वायरस की आशंकाओं के बीच शहर में मच्छरों का उत्पात बड़ी समस्या के रूप में सिर उठाता दिख रहा है। मनपा की स्थाई समिति की गुरुवार को हुई बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इस पर कार्रवाई की हिदायत दी गई। समिति प्रमुख अनिल गोपलाणी ने हाइड्रोलिक विभाग को अवैध कनेक्शनों को एक माह के भीतर वैध कराने के निर्देश दिए हैं। बैठक में डस्टबिन घोटाले का मुद्दा भी उठा। समिति ने एजेंडे में शामिल सभी प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।

शहर में इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर लोग पैनिक हैं। इसी बीच मच्छरों का उपद्रव भी बढ़ता जा रहा है। इसे देखते हुए स्थाई समिति अध्यक्ष अनिल गोपलाणी ने समिति की बैठक के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम को भी तलब किया था। मच्छरों को लेकर हुई चर्चा के दौरान समिति अध्यक्ष ने स्वास्थ्य विभाग को इन पर काबू पाने के उपाय करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि मच्छरों के प्रकोप को कम करने के लिए तत्काल जरूरी उपाय किए जाएं।

बैठक में हाइड्रोलिक विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे। गोपलाणी ने कॉज छह और कॉज चार का मुददा उठाते हुए कहा कि शहरभर में जहां भी हाइड्रोलिक नेटवर्क है, वहां अवैध कनेक्शनों को नियमित करने का अभियान चलाया जाना चाहिए। इंचार्ज सिटी इंजीनियर जतिन देसाई को एक माह के भीतर सर्वे कराकर इसका डाटा एकत्र करने के लिए कहा गया है। गौरतलब है कि कॉज छह में नेटवर्क से जुड़े नियमित कनेक्शन और कॉज चार में अवैध कनेक्शन का डाटा जमा किया जाता है। हाइड्रोलिक टीम को इसका डाटा रिवाइज करने के साथ ही अवैध कनेक्शनों को नियमित करने की कार्रवाई करनी होगी।

बैठक में डस्टबिन घोटाले का मामला भी उठा। सदस्यों ने आयुक्त बंछानिधि पाणि से इस मामले में जवाब मांगा तो उन्होंने बताया कि मामला विजिलेंस टीम को दिया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले पर आगे कुछ कहा जा सकता है। समिति ने एजेंडे में शामिल सभी प्रस्तावों पर सहमति की मुहर लगा दी।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned