समस्याओं से मिले निजात तो बने बात

महापौर से मिले साउथ गुजरात टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन पदाधिकारी

By: विनीत शर्मा

Published: 23 Jul 2021, 09:31 PM IST

सूरत. साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन ने शुक्रवार को मनपा प्रशासन से मिलकर कपड़ा कारोबारियों को हो रही मुश्किल से निजात दिलाने की मांग की। उन्होंने कहा कि रिंगरोड पर ट्रैफिक सबसे बड़ी दिक्कत बना हुआ है। इसके साथ ही कमेला दरवाजा और दूसरे अन्य मुद्दों पर भी उन्होंने अधिकारियों-पदाधिकारियों से समाधान मांगा।

साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन (एसजीटीटीए) का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को महापौर हेमाली बोघावाला और मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि समेत अन्य अधिकारियों-पदाधिकारियों से मिला। उन्होंने सूरत टेक्सटाइल मार्केट विस्तार की विभिन्न समस्याओं और सौंदर्यीकरण समेत अन्य मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल सदस्यों ने बताया कि रिंगरोड पर ट्रैफिक समस्या कारोबार के लिए सबसे बड़ा अवरोध बनी हुई है। उन्होंने कहा कि रिंगरोड और आसपास के करीब दो किलोमीटर एरिया में रोजाना हजारों वाहनों की आवाजाही होती है। इन वाहनों की पार्किंग के लिए दिक्कत आ रही है। उन्होंने रिंगरोड के समीप किसी खाली प्लॉट पर बड़ी पार्किंग की मांग की।

उन्होंने बरसों पुरानी कमेला दरवाजा स्थित कत्लखाने को अन्यत्र हटवाने की मांग दोहराई। उन्होंने कहा कि चार दशक पहले शहर की स्थिति अलग थी। अब शहर का काफी दूर तक विस्तार हो चुका है और कत्लखाना शहर के बीचोंबीच आ गया है। कत्लखाने को शहर से बाहर ले जाने और इस जगह को कपड़ा बाजार की जरूरतों के मुताबिक इस्तेमाल में लेने की मांग की। इसके साथ ही रिंगरोड कपड़ा मार्केट एरिया के सौंदर्यीकरण, चिकित्सा सुविधा, फूडजोन समेत कई अन्य मांगों पर विचार करने की जरूरत बताई। प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष सुनील कुमार जैन, बोर्ड चेयरमैन सांवर प्रसाद बुधिया, उपाध्यक्ष अरविंद वैद, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र जैन, संतोष माख़रिया और नीरज अग्रवाल शामिल रहे।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned