scriptSPECIAL NEWS: The campaign started from Sukhpar village spread to six | SPECIAL NEWS: सुखपर गांव से चली मुहिम छह राज्यों तक फैली | Patrika News

SPECIAL NEWS: सुखपर गांव से चली मुहिम छह राज्यों तक फैली

locationसूरतPublished: Oct 03, 2022 04:33:03 pm

Submitted by:

Dinesh Bhardwaj

-लंपी वायरस ग्रसित गायों का जीव बचाने के लिए डॉ. जिगर खैनी व किशन खैनी ने आठ माह पहले बनाई थी होम्योपैथी दवा
-लंपी वायरस ग्रस्त गायों में दवा के सफल परिणामों को देख गौ सेवा के अनूठे अभियान में खैनी के साथ जुड़े सैकड़ों गौ सेवक

SPECIAL NEWS: सुखपर गांव से चली मुहिम छह राज्यों तक फैली
SPECIAL NEWS: सुखपर गांव से चली मुहिम छह राज्यों तक फैली
सूरत. देश के पश्चिमी राज्यों में लंपी वायरस से पीडि़त हजारों-लाखों गायों का जीव बचाने के जतन में हर जगह सूरत का जिक्र है। सूरत में आठ माह पहले सौराष्ट्र में भावनगर जिले के एक छोटे से गांव सुखपर में चार गायों को लंपी वायरस से बचाने के लिए शुरू किया गया अभियान आज छह राज्यों तक पहुंच चुका है। इस अभियान में अहम भूमिका निभाने वाले डॉ. जिगर खैनी व किशन खैनी से राजस्थान पत्रिका ने खास बातचीत की है।
पत्रिका संवाददाता से बातचीत में अभियान की शुरुआत के बारे में खैनी ने बताया कि आठ माह पहले सौराष्ट्र में भावनगर जिले में सुखपर गांव के भारती आराध्यधाम मामापीर गौशाला में गायों के शरीर पर फोड़े होने की जानकारी मिली। वहां जाकर देखने के बाद होम्योपैथी डॉ. जिगर खैनी से बातचीत की और उन्होंने तत्काल एक होम्योपैथी सिद्धांत से दवा का निर्माण किया और लंपी वायरस ग्रसित गायों को दी। दवा लेने के कुछ समय बाद लंपी वायरस की बीमारी गायों में नहीं दिखी। दवा बनाने की प्रक्रिया जारी रखने के लिए इस दौरान भारती आराध्यधाम मामापीर के सद्गुरु अवधेशानंद भारती प्रेरणा देकर मानों संदेश दिया कि जल्द ही गौ सेवा के लिए बड़ी संख्या में दवा की जरूरत पड़ेगी। उसके कुछ महीने बाद ही राजस्थान में गायों में लंपी वायरस की शिकायत मिलने लगी और फिर गौ सेवा के सिलसिले ने तेजी पकड़ी जो अब भी यूं ही बरकरार है।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.