पढऩे-खेलने की उम्र में सिताराथॉन की बना दी योजना

अंजान मित्रों ने बनाई चार इवेंट्स की सिताराथॉन, भारत ही नहीं विदेशों के प्रतियोगी भी हैं शामिल

By: Dinesh Bhardwaj

Updated: 16 Oct 2020, 07:14 PM IST

सूरत. नाजुक उम्र में ही सेवा के संस्कारों का सिंचन जब घर के बड़े-बुजुर्गों से हो जाता है तो निश्चय ही वक्त आने पर उसका असर भी सामाजिक जीवन में दिखता है। ऐसा ही सेवाभाव का जज्बा सूरत की 16 वर्षीया कविशी व उसके अन्य 12 साथियों ने मिलकर दिखाने का पूरा प्लान तैयार कर लिया है। इनके प्लान के मुताबिक वल्र्ड वाइड वर्चुअल सिताराथॉन होगी और इसमें चार इवेंट मेराथन, साइक्लोथॉन, ड्यूएथ्लॉन व पेटाथॉन शामिल है। इसमें भाग लेने वाले स्पर्धकों से होने वाली आय सूरत के सिविल होस्पीटल के केंसर विभाग में उपचाराधीन मरीजों के सेवार्थ दी जाएगी।
कोरोना से उपजे संकटकाल में कई ऐसे-ऐसे सेवाभाव के काम हुए है जो अन्यों के लिए प्रेरक बन चुके हैं। इसी कड़ी में सूरत के 15 से 19 वर्ष की उम्र के बच्चों का सितारा फाउंडेशन भी अपना नाम दर्ज कराने को तैयार है। सितारा फाउंडेशन की संस्थापक कविशी बताती है कि उनके पिता मेराथन रनर है और लॉकडाउन व कोरोना काल में वह उन्हें वर्चुअल मेराथन में भाग लेते हैं। वहीं, उसके दादा भूपेंद्र हलवावाला शहर के न्यू सिविल होस्पीटल में श्रीदेवराज वावाभाई तेजाणी केंसर इंस्टीट्यूट व सारोली में भरत केंसर होस्पीटल में ट्रस्टी है। बस यहीं से मन में विचार पनपा कि क्यों ना केंसर पीडि़तों के सेवार्थ वर्चुअल मेराथन की योजना बनाई जाए। इसमें उसे पहले सहयोगी के रूप में ख्वाहिश पानवाला मिली और बाद में सोशल मीडिया के माध्यम से दोनों ने अपनी इस योजना को शेयर किया और कुछ ही देर में 13 जनों की टीम बन गई और सितारा फाउंडेशन की रचना कर दी गई। सभी ने मिलकर इस इवेंट को अधिक रोचक बनाने के लिए इसमें मेराथन के अलावा अन्य इवेंट्स भी जोड़े और इसमें भाग लेने वालों से साढ़े तीन सौ रुपए की फीस तय की।


जानिए इस रोचक इवेंट्स को


23 से 31 अक्टूबर तक नौ दिवसीय वर्चुअल सिताराथॉन को रोचक बनाने के लिए इसमें मेराथन, साइक्लोथॉन, ड्यूएथ्लॉन व पेटाथॉन इवेंट शामिल किए गए हैं। इसमें मेराथन ऑपन केटेगरी में 2, 5, 10, 21 व 42 किमी शामिल है। साइक्लोथॉन ऑपन केटेगरी में 10, 20, 30, 50 व 100 किमी शामिल है। ड्यूएथ्लॉन में 2.5 किमी रन, 10 किमी साइकिलिंग व 2.5 किमी रन तथा 5 किमी रन, 25 किमी साइकिलिंग व 5 किमी रन शामिल है। इसके अलावा चौथी इवेंट््स पेटाथॉन में प्रतियोगी घर में या बाहर अपने पेट (पालतु कुत्ते-बिल्ली) के साथ उनकी क्षमता के अनुसार दौड़ में शामिल होगा।


यूं हो सकते हैं इवेंट्स में शामिल


सितारा फाउंडेशन के सितारों ने पहले वर्चुअल सिताराथॉन में पांच सौ प्रतियोगियों का लक्ष्य रखा था और शुक्रवार तक भारत समेत दुनियाभर से 414 प्रतियोगी रजिस्टर्ड हो चुके हैं। इनमें 60 प्रतियोगी लंदन, दुबई, यूएस, बैंकॉक, कनाड़ा, नीदरलेंड्स आदि देश से है। प्रतियोगी 23 से 31 अक्टूबर तक वर्चुअल सिताराथॉन में चारों इवेंट्स में किसी में भी गुगल लिंक के जरिए फिटनेस एप पर अपनी इवेंट्स रिपोट्र्स कम्प्लीट कर भेज सकते हैं। सभी प्रतियोगियों को ई-सर्टिफिकेट, मेडल कुरियर से भेजने की व्यवस्था भी बच्चों ने की है। साढ़े तीन सौ रुपए फीस में से सौ रुपए केंसर पीडि़तों के सेवार्थ डोनेट की जाएगी।


इससे पहले नहीं जानते थे कोई


सितारा फाउंडेशन के सितारे बन केंसर पीडि़तों के लिए अनूठे तरीके से सेवाभाव का जज्बा दिखाने वालों में केवल कविशी व ख्वाहिश ही एक-दूसरे से पहले परिचित थे। बाद में इसमें जुडऩे वाली राशि जुनेजा, सारा मशरुवाला, रिद्धि मारु, आयुष मेहता, मनस्वी कमलिया, कहान हलवावाला, तुषिका कमलिया, कीर्ति चंदगोठिया, कुंजन हलवावाला, वंश असीजा व तान्या शाह इससे पहले कभी एक-दूसरे से नहीं मिले थे। सोशल मीडिया से मित्र बने यह सभी अब केंसर पीडि़तों के सेवार्थ वर्चुअल सिताराथॉन में शामिल हो रहे प्रतियोगियों की संख्या से बेहद उत्साहित है और इन्हें लग रहा है कि उनका छोटा सा यह प्रयास भारत ही नहीं बल्कि दुनिया में भी ऐसे ही किसी सेवाभाव के साथ अपनाया जाएगा।


छोटी से बड़ी मदद की मिलेगी सीख


सभी बच्चे मिलकर अच्छा व प्रेरक कार्य करने की ओर आगे बढ़ रहे हैं। हालांकि यह केंसर पीडि़तों के लिए काफी छोटी मदद होगी, लेकिन इससे इन बच्चों के सेवाभाव को उड़ान मिलेगी और अन्य को भी इस तरह से सेवा की सीख मिलेगी।
विशाल हलवावाला, मेराथन रनर, सूरत

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned