ग्रीष्मावकाश की बुकिंग फुल, अब हॉॅलिडे विशेष ट्रेन का इंतजार

उत्तरप्रदेश और बिहार जाने वाली टे्रनों में 31 मई तक की बुकिंग फुल

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 18 Feb 2020, 03:27 PM IST

सूरत.
ग्रीष्मावकाश में सूरत से उत्तरप्रदेश और बिहार जाने वाली लम्बी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों में ओपनिंग टिकटों की बुकिंग फुल हो गई है। सूरत-छपरा ताप्ती गंगा तथा सूरत-भागलपुर एक्सप्रेस में 31 मई तक स्लीपर और तृतीय श्रेणी वातानुकूलित शयनयान में वेटिंग है। सीजन में भीड़ के चलते कन्फर्म टिकट वाले यात्री भी स्लीपर डिब्बे में काफी मुश्किल से चढ़ पाते है। टिकट से वंचित रह गए यात्रियों को हॉॅलिडे ट्रेनों का इंतजार है।


सूरत समेत दक्षिण गुजरात में रहने वाले राजस्थान, उत्तरप्रदेश, बिहार और नई दिल्ली के प्रवासी लोग बड़ी संख्या में ग्रीष्मावकाश के दौरान गांव जाते है, लेकिन हर बार की तरह इस बार भी यात्रियों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ेगा। सूरत या उधना से शुरू होने वाली ट्रेनों में ग्रीष्मावकाश के लिए ओपनिंग टिकटों की बुकिंग दिसम्बर से शुरू हो गई थी। हाल में 15 जून तक की बुकिंग ओपन हो चुकी है। इसमें 19063 उधना-दानापुर एक्सप्रेस के स्लीपर क्लास में 16 मई को 242, 19 मई को 246, 23 मई को 123, 26 मई को 107 वेटिंग है। वहीं तृतीय एसी श्रेणी में 16 मई को 74, 19 मई को 92, 23 मई को ३० वेटिंग और 26 मई को एक आरएसी टिकट मिल रहा है। 22947 सूरत-भागलपुर एक्सप्रेस के स्लीपर क्लास में 16 मई को 143, 19 मई को 136, 23 मई को 73, 26 मई को 43, 30 मई को 26, दो जून को 30 वेटिंग है। वहीं तृतीय एसी श्रेणी में 16 मई को 23, 19 मई को 30, 23 मई को 13, 26 मई को 3, दो जून को 2 वेटिंग है।

19045 सूरत-छपरा ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के द्वितीय श्रेणी में 18 मई को 190, 20 मई को 201, 21 मई को 168, 22 मई को 133, 24 मई को 100 और 25 मई को 96 वेटिंग है। वहीं तृतीय एसी श्रेणी में 18 मई को 45, 20 मई को 46, 21 मई को 31, 22 मई को 21, 24 मई को 13 और 25 मई को 9 वेटिंग है। 22913 बान्द्रा टर्मिनस-पटना हमसफर एक्सप्रेस के तृतीय एसी श्रेणी में 3 मई को 179, 10 मई को 80, 17 मई को 53 वेटिंग है। 12949 पोरबंदर-संत्रागाछी एक्सप्रेस में 31 मई तक सीटें फुल है।

सूत्रों ने बताया कि दक्षिण गुजरात के अलग-अलग शहरों में स्थित औद्योगिक इकाइयों में काम करने वाले लोग बड़ी संख्या में सूरत या उधना स्टेशन से ट्रेन चढऩे के लिए पहुंचते है। हर साल की तरह इस बार भी गर्मी की छुट्टियों के दौरान उधना-वाराणसी भोलेनगरी, सूरत-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस, सूरत-पुरी एक्सप्रेस, वलसाड-मुजफ्फरपुर श्रमिक एक्सप्रेस और उधना-कानपुर उद्योगकर्मी एक्सप्रेस के यात्रियों को टिकट मिलना मुश्किल हो रहा है। 15 अप्रेल तक लगभग सभी स्कूलों की परीक्षाएं खत्म होने के बाद रेलवे स्टेशनों पर भीड़ बढऩे की संभावना है। राजस्थान पत्रिका ने 24 दिसम्बर के अंक में ग्रीष्मावकाश को लेकर स्टेशनों पर शुरू हुई ओपनिंग टिकटों के बुकिंग की खबर प्रकाशित की थी। वेटिंग टिकट लेने वाले सैकड़ों यात्रियों के अलावा अन्य यात्री अब हॉॅलिडे विशेष ट्रेनों की घोषणाओं का इंतजार कर रहे है। यात्रियों को उम्मीद है कि पिछले साल की तरह इस बार भी राजस्थान, यूपी-बिहार के लिए विशेष ट्रेनें चलाई जाएंगी।

राजस्थान की ट्रेनों में सात मई तक वेटिंग

सूत्रों ने बताया कि राजस्थान जाने वाली ट्रेनों में 15 अप्रेल से मई के प्रथम सप्ताह तक भीड़ है। इसके बाद के तिथियों में सीटें उपलब्ध है। इसमें 12955 मुम्बई-जयपुर गणगौर एक्सप्रेस की स्लीपर श्रेणी में 22 अप्रेल को 34, 23 अप्रेल को 43, 24 अप्रेल को 65, 25 अप्रेल को 25 वेटिंग है। 22933 बान्द्रा-जयपुर सुपरफास्ट ट्रेन में स्लीपर श्रेणी में वेटिंग है, लेकिन तृतीय एसी में सीटें रिक्त है। 19707 बान्द्रा-जयपुर अरावली एक्सप्रेस के स्लीपर श्रेणी में 20 से 50 के बीच वेटिंग है। 14708 बान्द्रा-बीकानेर रणकपुर एक्सपे्रस में 7 मई तक वेटिंग है। 22474 बान्द्रा-बीकानेर एक्सप्रेस में पांच मई तक वेटिंग है।


पिछले साल चली थी हॉॅलिडे विशेष ट्रेनें

09017 बान्द्रा-इलाहाबाद छिंवकी एक्सप्रेस, 09019 उधना-छपरा साप्ताहिक विशेष ट्रेन, 82911 उधना-छपरा साप्ताहिक सुविधा विशेष ट्रेन, 09041 बान्द्रा-गाजीपुर सिटी हॉॅलिडे एक्सप्रेस, 82907 बान्द्रा-लखनऊ हॉॅलिडे एक्सप्रेस, 09724 बान्द्रा-जयपुर हॉॅलिडे एक्सप्रेस, 04818 बान्द्रा-भगत की कोठी विशेष ट्रेन, 09676 पूणे-उदयपुर एक्सप्रेस समेत करीब 15-16 विशेष ट्रेनें चलाई थी। इस साल भी यात्रियों को विशेष ट्रेनें चलाने की घोषणा का इंतजार है। हॉॅलिडे के एनाउंसमेंट के बाद फिर से यात्रियंो को रिजर्वेशन के लिए मशक्कत करनी होगी।


विशेष किराया से मिले मुक्ति

सूरत में तेजस एक्सप्रेस के संचालन से पूर्व उत्तर भारतीय रेल संघर्ष समिति के द्वारा यूपी-बिहार के लिए नई ट्रेनें तथा रेग्यूलर चल रही ट्रेनों के विस्तार की मांग के साथ तेजस एक्सप्रेस का विरोध करने का निर्णय किया था। लेकिन, स्थानीय सांसद सीआर पाटिल से मुलाकात के बाद संघर्ष समिति ने आंदोलन रोक दिया। हालांकि कुछ जन प्रतिनिधियों ने तेजस एक्सप्रेस के रवाना होने पर अपनी गिरफ्तारी देकर ट्रेन का विरोध जताया था। जनप्रतिनिधियों की मांग है कि पश्चिम रेलवे हॉॅलिडे विशेष ट्रेनें चलाती है उस पर विशेष किराया सिस्टम लागू नहीं किया जाए। विशेष ट्रेनों का किराया रेग्यूलर ट्रेन के मुकाबले बहुत अधिक होता है। ऐसे में निम्न व मध्यम वर्ग के लोगों को विशेष ट्रेनों में सफर करने के लिए अधिक किराया देना होता है।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned