बिल्डर पर जानलेवा हमले के लिए दी गई थी एक लाख की सुपारी


- अमरोली पुलिस ने साजिश का पर्दाफाश कर छह जनों को पकड़ा
- Amroli police expose conspiracy and arrests six people

By: Dinesh M Trivedi

Published: 08 Apr 2021, 08:06 PM IST

सूरत. अमरोली मनीषा घरनाला इलाके में एक साइट के बाहर बिल्डर पर हुए जानलेवा हमले के लिए उससे रंजिश रखने वाले प्रतिस्पर्धी बिल्डर ने ही एक लाख रुपए की सुपारी दी थी। पुलिस ने हमले की साजिश का पर्दाफाश कर हमलावरों समेत छह जनों को गिरफ्तार किया है। जबकि मुख्य सूत्रधार आरोपी बिल्डर फरार है।
पुलिस के मुताबिक अश्वनी कुमार रोड शारदा विहार सोसायटी निवासी बिल्डर कालू सावलिया पर जानलेवा की साजिश उससे रंजिश रखने वाले नाना वराछा स्नेह मिलन सोसायटी निवासी बिल्डर गौतम नलियादरा ने रची थी। कालू अपने भागीदारों के साथ मिल कर मनीषा घरनाला के निकट दिव्य मॉल नाम की साइट पर काम कर रहे थे। उसके लेनदेन को लेकर गौतम के साथ उनका विवाद चल रहा था। दिव्य मॉल की जमीन कालू व उसके पार्टनर नरेश इटालिया ने तीन साल पूर्व गौतम व उसके पार्टनर महेन्द्र को बेची थी।

लेकिन समय पर भुगतान नहीं होने के कारण सौदा रद्द कर दिया था। उसके बाद खुद ही उस साइट पर निर्माण कार्य शुरू कर दिया था। इस सौदे के लेनदेन को लेकर गौतम कालू से रंजिश रखे हुए था। कालू सावलिया की हत्या के लिए उसने अपने मित्र नाना वराछा रुक्मणी सोसायटी निवासी राहुल नावडिया व गिरनार सोसायटी निवासी जय चित्रौड़ा से बात की थी। इस काम के लिए एक लाख रुपए तय कर दस हजार रुपए अग्रीम दिए थे।

उन्होंने यह काम नाना वराछा पटेल पार्क सोसायटी निवासी हार्दिक शलकणा, वेलंजा सुख शांति रो हाउस निवासी ध्रुव खुंट व पटेल पार्क निवासी सागर ताला को सोंपा था। गौतम ने अपने कर्मचारी नाना वराछा गिरनार सोसायटी निवासी तेजपाल गोहिल से कालू सावलिया की रेकी करवाई थी। उसके बाद एक अप्रेल को रात आठ बजे ध्रुव खुंट व हार्दिक ने मोटरसाइकिल पर सवार होकर दिव्य मॉल के निकट कालू पर चाकू से जानलेवा हमला किया और फरार हो गए थे।

इस मामले की जांच में जुटी पुलिस को सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल में 27 मार्च को रेकी करता हुआ तेजपाल नजर आया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो हमले की साजिश का खुलासा हुआ। पुलिस ने कार्रवाई कर हमलावरों को तो गिरफ्तार कर लिया लेकिन मुख्य सूत्रधार नहीं मिला। उसकी खोजबीन जारी है।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned