टेक्सटाइल यूनिवर्सिटी से पहले निफ्ट का मिल सकता है तोहफा

सूरत के खाते में जुड़ेगी बड़ी उपलब्धि... टेक्सटाइल राज्यमंत्री दर्शना जरदोष ने चैंबर से मांगा प्रजेंटेशन, फैशन की पढ़ाई के लिए सूरतीयों को जाना पड़ता है गांधीनगर

By: विनीत शर्मा

Published: 11 Oct 2021, 10:40 AM IST

विनीत शर्मा
सूरत. यार्न से कपड़ा और गारमेंट तक हर क्षेत्र में अपना लोहा मनवा चुके सूरती अब फैशन में भी जगह बनाएंगे। यह संभव होगा निट के सूरत आने से। बरसों से अटकी टैक्सटाइल यूनिवर्सिटी से पहले सूरत को निफ्ट की सौगात मिल सकती है। सूरत में निफ्ट खुला तो वह देश का 18वां सेंटर होगा।

गारमेंट और कपड़े के हब के रूप में पहचान बना चुके सूरती फैशन के मामले में लगातार पिछड़ रहे हैं। सूरत के कपड़ा उद्यमी लंबे अरसे से विश्वस्तरीय टैक्सटाइल यूनिवर्सिटी और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की मांग करते आ रहे हैं। केंद्रीय राज्यमंत्री दर्शना जरदोश ने पिछले दिनों गांधीनगर के निफ्ट का दौरा किया था। उसके बाद उन्होंने एसजीसीसीआइ से निफ्ट के लिए प्रजेंटेशन तैयार करने को कहा है।

यह होगा फायदा

सूरत के कपड़ा उद्यमी कपड़ों की क्वालिटी में दुनिया के शीर्ष देशों को चुनौती दे रहे हैं। अगला दशक गारमेंट इंडस्ट्री का है और सूरत इस दिशा में आगे बढ़ रहा है। कपड़े और गारमेंट की पूरी चेन मौजूद होने के बावजूद गारमेंट डिजाइनिंग के लिए सूरत को दिल्ली, मुबई या दूसरे शहरों पर निर्भर रहना पड़ता है। सूरत में निफ्ट आने से गारमेंट इंडस्ट्री को बूस्ट मिलेगा।

सूरत में चलता है गांधीनगर का सेंटर

गांधीनगर निफ्ट सूरत में अपना एक सब सेंटर संचालित कर रहा है। यहां एक साल का डिप्लोमा कोर्स चलाया जाता है। बताया जा रहा है कि एसवीएनआइटी में संचालित इस सेंटर का करार पूरा हो गया है और इसे शिफ्ट करने या बंद करने की बात चल रही है।

तैयार कर रहे प्रस्ताव

सूरत में पूर्ण निफ्ट के लिए हम प्रजेंटेशन तैयार कर रहे हैं। आगामी दिनों में इसे पूरा कर केंद्रीय कपड़ा राज्यमंत्री को सौपेंगे। उमीद करते हैं कि जल्द ही सूरत को निफ्ट मिल जाएगा।
आशीष गुजराती, प्रमुख, दक्षिण गुजरात चैबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज, सूरत

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned