लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा सूरत

कल से सिटी और बीआरटीएस बसें भी होंगी बंद

Vineet Sharma

20 Mar 2020, 10:04 PM IST

सूरत. गुजरात में भी कोरोना के मरीजों के मिलने के बाद सूरत शहर भी लॉकडाउन की ओर बढऩे लगा है। हालांकि आधिकारिक रूप से इसका ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन निजी स्तर पर लोग धीरे-धीरे इसी दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। मनपा प्रशासन ने भी गार्डन के बाद अब सार्वजनिक परिवहन सेवा को भी 31 मार्च तक बंद रखने का ऐलान किया है। शहर धीरे-धीरे अघोषित तरीके से लॉकडाउन की ओर आगे बढ़ रहा है।

कोरोना के बाद जिस तरह की स्थितियां बनी हैं, शहर में हर तरफ कोरोना का डर पसरने लगा है। सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है तो मनपा प्रशासन ने भी पहले मल्टीप्लेक्स, स्कूल-कॉलेज, स्वीमिंग पूल समेत दूसरी सेवाओं को बंद कर दिया था। उसके बाद मॉल्स और दूसरी सेवाओं पर भी पाबंदी लगा दी थी। एक्वेरियम, प्राणी उद्यान और अन्य जगहों पर भी लोगों के प्रवेश को प्रतिबंधित करने के लिए उन्हेंं बंद कर दिया गया है। हाट बाजारों पर रोक लगाने के बाद मनपा प्रशासन ने शुक्रवार को शहर के गार्डन में भी लोगों के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया।

इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए मनपा प्रशासन ने 22 मार्च से शहर में चल रही सिटी बसों और बीआरटीएस बसों का परिचालन बंद करने का निर्णय किया है। दूसरी ओर निजी संस्थाओं ने अपने आयोजनों पर विराम लगा दिया है, तो कपड़ा कारोबारियों ने भी कारोबार को 24 मार्च तक के लिए बंद रखने का निर्णय किया है। कारोबारियों के मुताबिक 24 मार्च को स्थिति का जायजा लेने के बाद बाजार को आगे भी बंद रखने पर फैसला किया जाएगा। मनपा प्रशासन ने कोरोना की स्थिति की नियमित समीक्षा का निर्णय किया है।

सड़कों पर सन्नाटा, मनपा मुख्यालय भी खाली

कोराना पर प्रशासनिक अलर्ट के साथ ही लोगों ने खुद से भी एहतियात बरतने शुरू कर दिए हैं। लोग जरूरी काम से ही बाहर निकल रहे हैं, जिस कारण सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। शुक्रवार को मनपा मुख्यालय मुगलीसरा में भी लोगों की आवाजाही सीमित ही रही। आम दिनों में जहां लोगों का जमावड़ा जुटा रहता है, शुक्रवार को मनपा के गलियारे सूने पड़े थे।

पत्रिका ने पहले ही जताई थी जरूरत

लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा शहर

राजस्थान पत्रिका ने 16 मार्च के अंक में पत्रिका व्यू के तहत कोरोना पर नियंत्रण के लिए गार्डन को बंद करने की जरूरत बताई थी। पत्रिका ने साफ किया था कि कोरोना हो या कोई दूसरा वायरस भीड़भाड़ वाली जगह पर ज्यादा फैलता है। सूरत मनपा प्रशासन ने गाइडलाइन जारी कर स्वीमिंग पूल बंद करने समेत कई सारे प्रतिबंध और नई व्यवस्थाएं तो लागू कर दीं, लेकिन शहर के गार्डन और अन्य जगहों पर लोगों की आवाजाही को निर्बाध जारी रखा था। शहर में सुबह और शाम बड़ी संख्या में लोग गार्डन में जुटते हैं। इस दौरान खासकर शाम के समय बच्चे भी परिजनों के साथ गार्डन में डेरा डाले रहते हैं। कोरोना वायरस के लिए यही दोनो वर्ग ज्यादा सहज टारगेट हैं। इसीलिए संक्रमण के फैलने की यह सबसे मुफीद जगह है। पत्रिका ने मनपा प्रशासन से गार्डन पर सबसे पहले प्रतिबंध लगाने की अपील की थी। शुक्रवार से मनपा प्रशासन ने गार्डन पर भी लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned