scriptSurat Crime Branch's hard work and bravery got respect - Home Minister | Achievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ? | Patrika News

Achievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?

सूरत क्राइम ब्रांच की मेहनत और बहादुरी को मिला सम्मान
- गृहमंत्री हर्ष संघवी ने डिटेल जानकर सराहा व सरकार की ओर तीन लाख का दिया ईनाम
- बिहार के नक्सल प्रभावित क्षेत्र सेे पकड़ा था माफिया प्रवीण राउत व जान जोखिम में डाल कर चिकलीगर गैंग को दबोचा

सूरत

Published: July 03, 2022 09:44:46 pm

सूरत. फरार चल रहे कुख्यात आरोपियों पर नकेल डालने के विशेष अभियान में जुटी क्राइम ब्रांच ने पिछले दिनों ऑपरेशन घोस्ट के तहत बिहार के नक्सल प्रभावित इलाके से माफिया प्रवीण राउत को गिरफ्तार किया था। वहीं जान जोखिम में डाल कर सूरत ग्रामीण से चिकलीगर गैैंग को दबोचा था।
Achievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?
Achievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?
इन दोनों ऑपरेशनों को अंजाम देेने वाली क्राइम ब्रांच की टीमों का सूरत दौरे पर आए गृह राज्यमंत्री हर्ष संघवी ने सराहना की। रविवार को उन्होंने सर्किट हाउस में क्राइम ब्रांच की टीमों से मुलाकात की। पुलिस आयुक्त से लेकर कांस्टेबल तक इस कार्रवाई में जुटे सभी पुलिसकर्मियों से दोनों ऑपरेशनों की डिटेल जानी।
मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की ओर से टीम को अभिनंदन दिया। सरकार की ओर से ऑपरेशन घोस्ट के लिए दो लाख व चिकलीगर गैंग के लिए एक लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि की घोषणा की। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों ऑपरेशन को गुप्त रखने के लिए अपने परिजनों से भी जानकारी छिपाई और इसे अंजाम दिया।
फल विक्रेता समेत विभिन्न वेष धारण कर की थी रेकी

छह वर्षो से फरार चल रहे माफिया प्रवीण राउत को पकडऩे के लिए पुलिस टीम ने कड़ी मेहनत की थी। चार हत्याओं, लूट, रंगदारी समेत एक दर्जन से अधिक मामलों में लिप्त प्रवीण की पुलिस के पास न तो उसकी कोई ताजा तस्वीर थी और न ही उसके ठिकाने की पुख्ता जानकारी थी।
तकनीकी सर्वेलंस टीम ने उसे बिहार के नालंदा जिले के नक्सल प्रभावित गांव में ट्रेस किया। वहां उसके तगड़े नेटवर्क को ध्यान में रख पुलिस टीम ने वेष बदल कर फल बेचे और फिर उसकी रेकी की और आखिरकार मौका देख कर उसे दबोचा था।
600 सीसीटीवी के फुटेज से जुटाया चिकलीगैंग का लॉकेशन

बंद घरों में चोरी, लूट, हत्या व पुलिस हमले के मामलों में लिप्त चिकलीगर गैंग के दो जनों पकडऩे के लिए क्राइम ब्रांच की दूसरी टीम ने भी कड़ी मेहनत की। पुलिस ने टीम ने उनका को ट्रेस कर लॉकेशन जानने के लिए करीब 600 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले और उनकी मूवमेंट की रेकी की।
उसके बाद सूरत ग्रामीण में दस्तान फाटक के पास सडक़ पर बूलडोजर लगा कर नाकाबंदी की। घिर जाने के बाद भी उन्होंने कार से भागने का प्रयास किया तो पुलिसकर्मियों ने कार को घेर कर डंडे बरसाए और फिर उन्हें दबोचा था।
------------------------

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

बांग्लादेश में श्रीलंका जैसे हालात, 50% बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, हाथों में लालटेन ले सड़कों पर उतरे लोगअंतरिक्ष में भारत की नई उड़ान, इसरो ने लॉन्च किया पहला SSLV-D1West Bengal SSC Scam: पहली रात जेल में जमीन पर सोने को मजबूर हुए पार्थ चटर्जी, अगले दिन मिल गया बेड, कहा- 'यहां रहना होगा मुश्किल'Maharashtra: महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार में देरी को लेकर अजित पवार ने सरकार पर साधा निशाना, जानें क्या कहाBihar News: महंगाई-बेरोजगारी को लेकर पटना में RJD का रोड शो, तेज प्रताप ने चलाई बस, बगल में बैठे तेजस्वी यादव15 अगस्त से पहले दिल्ली में ISIS मॉड्यूल का खुलासा, NIA ने एक आरोपी को किया गिरफ्तारMaharashtra Politics: मुंबई को आर्थिक राजधानी किसनें बनाया.. ED की कस्टडी से संजय राउत ने लिखा सामना में लेख; पढ़ें डिटेल्सधनकड़ इफेक्ट के राजनीतिक नफा-नुकसान के आंकलन में जुटी कांग्रेस, सियासी तोड़ पर भी मंथन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.