सूरत बन रहा कचरायुक्त शहर

-जगह जगह लगे हैं गन्दगी के ढेर, आयुक्त दे रहे स्वच्छ मिशन की हिदायत, अधिकारी बेपरवाह

By: विनीत शर्मा

Published: 21 Nov 2020, 06:20 PM IST

सूरत. एक ओर मनपा प्रशासन शहर को कचरामुक्त बनाने का दावा कर रहा है तो दूसरी तरफ कचरे के ढेर की तस्वीरें शहर के कचरायुक्त होने की गवाही दे रही है। आयुक्त स्वच्छ सर्वेक्षण की तैयारियों में जुटने की हिदायत दे रहे हैं, लेकिन बेपरवाह अधिकारियों की लापरवाही के कारण शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर नजर आ रहे हैं।

कोशिशें कचरामुक्त बनाने की हो रही हैं, लेकिन शहर कचरायुक्त होता जा रहा है। कुछ तो लोगों की लापरवाही और कुछ अधिकारियों की बेपरवाही के कारण शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। दीपावली के पांच दिन बाद भी शहर में कई जगहों पर गंदगी पसरी हुई है। यह हाल तब है जब मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि बीते एक माह से स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए अभी से तैयारियां शुरू करने के निर्देश दे चुके हैं। इसके बावजूद रास्तों से कचरा उठाने की व्यवस्था करने में शहर प्रशासन नाकाम साबित हुआ है।

पहले तो खाड़ी किनारे या तापी तटों पर गंदगी पसरी रहती थी। अब तो आलम यह है कि शहर में रास्तों-गलियों में जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे पड़े हैं। जब से शहर को कंटेनर फ्री किया गया है, न लोगों ने अपनी जिम्मेदारी समझी है और न अधिकारियों ने। लोग गैर जिम्मेदाराना तरीके से जहां मौका देखा कचरा छोड़ दे रहे हैं। कचरा कलेक्शन के लिए लगी डोर टु डोर गाडिय़ां भी रास्ते में पड़े कचरे को उठाने की जहमत नहीं उठा रहीं।

बन सकता है संक्रमण के फैलाव की वजह

जानकारों के मुताबिक बारिश के बाद जब शीत का मौसम आता है, संक्रामक बीमारियां भी जोर पकडऩे लगती हैं। कचरे के ढेर और गंदगी इन बीमारियों के पनपने के लिए संजीवनी का काम करते हैं। फिलवक्त शहर कोरोना संक्रमण की चपेट में है। दीपावली के बाद जिस तरह से संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, रास्तों पर पसरे गंदगी के यह ढेर संक्रमण के फैलाव की वजह बन सकते हैं।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned