SURAT KAPDA MANDI: आखिर कपड़ा बाजार में स्वैच्छिक बंद की घोषणा

-व्यापारिक संगठनों से पहले सैकड़ों व्यापारी निजी स्तर पर कर चुके हैं अपनी-अपनी दुकानें सेल्फ लॉकडाउन

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 16 Apr 2021, 07:46 PM IST

सूरत. सूरत कपड़ा मंडी के मुख्य केंद्र रिंगरोड कपड़ा बाजार में आखिरकार दो दिवसीय स्वैच्छिक बंद अर्थात सेल्फ लॉकडाउन का निर्णय कर लिया गया है। अब शनिवार और रविवार को कपड़ा बाजार पूरी तरह से बंद रहेगा, हालांकि क्षेत्र में स्थित विभिन्न टैक्सटाइल मार्केट परिसर में सुचारु अन्य सेवा गतिविधि अवकाश दिवस के अलावा जारी रहेगी।
कोरोना महामारी से पनप रही शहर में भयानक स्थिति को ध्यान में रख शुक्रवार दोपहर को पहली और अहम बैठक चैम्बर ऑफ कॉमर्स की ओर से बुलाई गई। नानपुरा स्थित समृद्धि हॉल में आयोजित फिजिकल व वर्चुअल बैठक में शहर के विभिन्न व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधि व्यापारी मौजूद थे। बैठक की जानकारी में सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन के प्रमुख नरेंद्र साबू ने बताया कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए शनिवार और रविवार दो दिवसीय स्वैच्छिक बंद का निर्णय सर्वसम्मति से किया गया है, ताकि प्रशासन को कोरोना की चेन तोडऩे में सहयोग किया जा सकें। बैठक में चेम्बर ऑफ कॉमर्स के प्रमुख दिनेश नावडिय़ा, मंत्री निखिल मद्रासी, उपाध्यक्ष आशीष गुजराती, फैडरेशन ऑफ गुजरात वीवर्स एसोसिएशन के प्रमुख अशोक जीरावाला, हिमांशु बोडावाला समेत अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे। स्वैच्छिक बंद के बारे में बैठक में बताया गया कि शनिवार सुबह छह बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक 48 घंटे यह स्वैच्छिक बंद रहेगा और इस दौरान सभी के सहयोग से शहर के अधिकांश व्यावसायिक उपक्रम, संस्थान, दुकान वगैरह बंद रखी जाएगी। स्वैच्छिक बंद के दौरान विभिन्न तरह की जरूरी सेवा के केंद्र बैंकिंग, मेडिकल आदि खुले रहेंगे। गौरतलब है कि पत्रिका ने शुक्रवार को ही 'व्यापारी खुद करने लगे सेल्फ लॉकडाउन की बातÓ शीर्षक से प्रकाशित खबर में बताया था कि शुक्रवार देर शाम तक कपड़ा बाजार में सेल्फ लॉकडाउन के संबंध में आवश्यक निर्णय की संभावना है।

-मार्केट स्तर पर कर दी पहल

रिंगरोड कपड़ा बाजार में कोरोना को रोकने के लिए सेल्फ लॉकडाउन का निर्णय विभिन्न टैक्सटाइल मार्केट एसोसिएशन व प्रबंधन की ओर से निजी स्तर पर भी किया गया। इसमें जश टैक्सटाइल मार्केट एसोसिएशन के सचिव महेंद्रसिंह भायल ने बताया कि सुबह बोर्ड मीटिंग रखी थी और उसमें 80 फीसद सदस्यों ने दो दिवसीय स्वैच्छिक बंद के प्रति सहमति व्यक्त कर दी थी और उसके बाद बंद की घोषणा कर दी गई।

-निजी स्तर पर पहले ही चस्पा पर्चे

कोरोना महामारी से पनपे विकट हालात में सूरत कपड़ा मंडी के कई कपड़ा व्यापारियों ने एक सप्ताह पहले ही सेल्फ लॉकडाउन के निर्णय कर लिए थे। इनमें से ज्यादातर ने अपने-अपने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के शटर पर तीन, पांच, सात और दस दिन के सेल्फ लॉकडाउन के पर्चे चस्पा कर दिए थे और यह सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। वहीं, कई बड़े व्यापारिक संस्थानों ने भी स्वैच्छिक बंद की घोषणा पहले से ही की हुई है।

-मनपा प्रशासन ने भी भेजा पत्र

सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि व्यापारियों को महानगरपालिका प्रशासन ने स्वैच्छिक बंद के लिए पत्र भेजे थे। इसमें कोरोना से पनपे हालात को देखते हुए कोरोना की चेन तोडऩे में सहायक बनने की अपील की गई थी। वहीं, होली से पहले स्वयं महानगरपालिका आयुक्त बंछानिधि पाणी ने भी कपड़ा बाजार क्षेत्र में व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर शनि-रवि दो दिवसीय स्वैच्छिक बंद की अपील की थी।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned