scriptSURAT KAPDA MANDI: Rents revised by more than 70 percent in textile ma | SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट्स में रेंट 70 फीसद से अधिक रिवाइज्ड | Patrika News

SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट्स में रेंट 70 फीसद से अधिक रिवाइज्ड

-नोटबंदी व जीएसटी के बाद कोरोना काल में रियल एस्टेट कारोबार को पड़ी थी जमकर आर्थिक मार
-पिछले साल ही घटा था आधे तक किराया, रिंगरोड के बजाय सारोली कपड़ा बाजार में अधिक ध्यान केंद्रित
-कपड़ा उद्योग के रियल एस्टेट कारोबार में धीमी रफ्तार से होने लगा है व्यापारिक सुधार

सूरत

Published: May 04, 2022 09:38:15 am

सूरत. कोरोना की पहली, दूसरी और तीसरी लहर गुजरे वक्त बीत गया और नोटबंदी व जीएसटी के साये का भी असर अब पहले जैसा नहीं रहा। नतीजन एशिया की सबसे बड़ी सूरत कपड़ा मंडी के कपड़ा उद्योग के साथ जुड़े हजारों करोड़ के रियल एस्टेट कारोबार भी धीरे-धीरे पुरानी रफ्तार को पकडऩे लगा है। गतवर्ष की तुलना में वर्तमान स्थिति में टेक्सटाइल मार्केट्स में दुकानों के किराए में 70 प्रतिशत से अधिक तक सुधार बताया गया है।
सिल्कसिटी सूूरत की कपड़ा मंडी के व्यापारिक हाल-चाल गत वर्ष तक बेहतर नहीं थे। लाखों लोगों को रोजगार देने वाले कपड़ा उद्योग का प्रत्येक सेक्टर कोरोना काल में मंदी से घिरा था और इसका गहरा असर रियल एस्टेट कारोबार पर भी साफ देखने को मिला था। जानकारों की मानें तो यह असर भी इस कदर था कि दो साल पहले रिंगरोड कपड़ा बाजार के जिन टेक्सटाइल मार्केट्स में दुकानों का किराया 40-45 हजार रुपए था वो घटकर 15-20 हजार ही रह गया था। पहले नोटबंदी व जीएसटी और बाद में कोरोना महामारी की मार से त्रस्त सूरत कपड़ा मंडी के रिंगरोड कपड़ा बाजार व मोटी बेगमवाड़ी कपड़ा बाजार के 80 फीसद टैक्सटाइल मार्केट्स में दुकानों के किराए में काफी कमी आई थी। इनमें से कई मार्केट्स में तो यह कमी दो से ढाई गुना तक भी पहुंची।
कोरोना महामारी की तीसरी कमजोर लहर के बाद से ही सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारिक हालात अब लगातार सुधर रहे हैं और नतीजन कपड़ा कारोबार के साथ-साथ हजारों करोड़ के रियल एस्टेट कारोबार में भी यह सुधार देखने को मिल रहा है। यह सुधार भी इस कदर है कि रिंगरोड कपड़ा बाजार स्थित ढाई-तीन हजार दुकानों वाले मिलेनियम मार्केट, रघुकुल मार्केट, मिलेनियम मार्केट-2 में दुकान किराए की स्थिति पहले जैसी हो गई है। यहां कोरोना काल में किराया घटकर 50 फीसद से नीचे तक आ गया था। इनके अलावा अन्य टेक्सटाइल मार्केट्स में भी दुकानों के किराए की स्थिति में 70 प्रतिशत तक सुधार आया है।
SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट्स में रेंट 70 फीसद से अधिक रिवाइज्ड
SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट्स में रेंट 70 फीसद से अधिक रिवाइज्ड
-सुविधा और उपयोग दोनों ही अधिक यहां

रिंगरोड कपड़ा बाजार स्थित टेक्सटाइल मार्केट्स से छह गुना बड़ी दुकान/गोदाम वाले सारोली कपड़ा बाजार ने सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारियों को खूब आकर्षित किया। बड़ी दुकान/गोदाम के कम किराए व खरीद क्षमता के अनुरूप स्थिति के अलावा यहां ट्रांसपोर्ट, स्पेस, पार्किंग, कई मार्केट में फ्री मेंटनेंस की सुविधा व्यापारिक आकर्षण का केंद्र बनी। माल ढुलाई का 80 फीसद से ज्यादा काम सारोली व आसपास में पहुंच गया और डाइंग-प्रिंटिंग मिलें भी इस क्षेत्र में बढऩे से ऐसी व्यापारिक सुविधाओं का उपयोग अधिक होने लगा है।
-पुरानी रेट हो गई रिवाइज्ड

रिंगरोड कपड़ा बाजार में जिस तरह से किराए में रेट रिवाइज्ड हो रहे हैं वैसे ही सारोली कपड़ा बाजार के टेक्सटाइल मार्केट्स में भी पुराने रेट रिवाइज्ड हुए बताए हैं। एक स्थिति यहां ऐसी भी हुई कि 5 हजार रुपए वर्गफीट के माल को कोई ढाई हजार वर्गफीट में लेने को भी तैयार नहीं था। यह स्थिति नोटबंदी व जीएसटी में फंसने से सारोली कपड़ा बाजार और मार्केट्स निर्माताओं की बिगड़ी थी और कोरोना काल में तो यह और खराब हो गई। सारोली कपड़ा बाजार का चार-पांच साल का बुरा दौर मानों अब बीतता प्रतीत होता है तभी नए मार्केट्स की बुकिंग रेट का बीता अच्छा जमाना लौट रहा है।
-पुरानी स्थिति से भी बेहतर हालात

सभी ने बुरा दौर देखने के बाद अब उम्मीद के मुताबिक अच्छे दौर को भी देखना प्रारम्भ कर दिया है। एक समय ऐसा भी आया कि 5 हजार की वस्तु दो-ढाई हजार में भी खरीदार नहीं थे और अब वो ही वस्तु 5 हजार से भी बढ़कर भाव में बोली जा रही है।
नरेश अग्रवाल, बिल्डर, कुबेरजी ग्रुप

-एक भी दुकान खाली नहीं

रिंगरोड के बजाय सारोली कपड़ा बाजार अधिक व्यापारिक सुविधायुक्त होने से अब यहां कई मार्केट्स ऐसे हैं जहां एक भी दुकान खाली नहीं मिलेगी। दुकान/गोदाम के किराए में भी 70 से 80 फीसद तक सुधार दर्ज किया जा चुका है।
-बजरंग अग्रवाल, कोषाध्यक्ष, सूरत टेक्सटाइल शॉप ब्रॉकर एसोसिएशन।

-निश्चित काफी सुधार, आगे भी गुंजाइश

सूरत कपड़ा मंडी के कपड़ा उद्योग से जुड़े रियल एस्टेट कारोबार में रेंट और परचेजिंग दोनों में काफी सुधार बीते कुछ समय में आया है। कपड़ा व्यापारियों को बढ़ती महंगाई के बावजूद आगे भी इसमें लगातार सुधार की गुंजाइश दिख रही है।
किशन गाडोदिया, कपड़ा व्यापारी, मिलेनियम मार्केट-2

-रिंगरोड का विकल्प सारोली कपड़ा बाजार

शहर के ठीक मध्य में स्थित रिंगरोड के दाएं-बाएं पसरे कपड़ा बाजार में सवा सौ-डेढ़ सौ छोटे-बड़े टेक्सटाइल मार्केट हैं। इन सभी मार्केट्स में दुकानों की साइज छोटी है और बाहर रिंगरोड पर यातायात की सदैव दिक्कत रहती है। वहीं, पिछले आठ-दस वर्षों में सूरत कपड़ा मंडी तेजी से ग्रोथ करने वाले कपड़ा कारोबार में हजारों कपड़ा व्यापारियों की व्यापारिक क्षमता भी खूब बढ़ी और नतीजन शहर के सारोली क्षेत्र में नया कपड़ा बाजार विकसित हुआ जो कि आज रिंगरोड कपड़ा बाजार का मजबूत विकल्प बनकर तैयार हो गया है।
SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट्स में रेंट 70 फीसद से अधिक रिवाइज्ड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अब असम में भी चला बुलडोजर, थाना फूंकने वाले पांच परिवारों के घर गिराए, 20 आरोपी हिरासत मेंAzam Khan और अखिलेश में बढ़ी दूरियां, सपा विधानमंडल दल की बैठक में नहीं गए आजम खानगृहमंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी पर कसा तंज, कहा - 'इटालियन चश्मा उतारें, तभी दिखेगा विकास''मातोश्री क्या कोई मस्जिद है?' पुणे रैली में राज ठाकरे ने PM से की यूनिफॉर्म सिविल कोड व जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांगपटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीPM मोदी तक पहुंची अल्मोड़ा की 'बाल मिठाई', स्टार शटलर लक्ष्य सेन ने ऐसा पूरा किया अपना वायदाराजस्थान में 50 हजार अपराधियों की बनेगी'कुंडली' थाना स्तर पर बनेगा डोजीयरभारतीय स्टार Veer Mahaan ने WWE दिग्गज को मार-मारकर किया बेसुध, पाकिस्तानी मूल का रेसलर धराशाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.