SURAT KAPDA MANDI: सुबह 9 से दोपहर 3 तक खुलेगा कपड़ा बाजार

अगले गुरुवार तक मिली रियायत, माल का परिवहन समेत अन्य गतिविधियां होगी सुचारु

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 20 May 2021, 08:37 PM IST

सूरत. पूरे 23 दिन बाद सूरत कपड़ा मंडी के रिंगरोड कपड़ा बाजार, मोटी बेगमवाड़ी कपड़ा बाजार समेत अन्य व्यापारिक केंद्र गुरुवार से अगले गुरुवार तक छह घंटे के प्रायोगिक तौर पर खुल जाएंगे। राज्य सरकार ने गत 28 अप्रेल से लागू मिनी लॉकडाउन का स्वरूप गुरुवार से और मिनी कर सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक की छूट दी है।
कोरोना महामारी की दूसरी भयावह लहर की वजह से राज्य सरकार ने गत 28 अप्रेल से सूरत समेत गुजरात के कई शहर-कस्बों में मिनी लॉकडाउन लागू कर दिया था और इस दौरान सूरत कपड़ा मंडी की व्यापारिक गतिविधियां पूरी तरह से बंद हो गई थी। इस बीच राज्य सरकार ने मिनी लॉकडाउन की अवधि को तीन बार बारी-बारी से बढ़ाया और 18 मई को उम्मीद थी कि सूरत कपड़ा मंडी में सशर्त कपड़ा व्यापारियों को दुकानें खोलने की छूट मिल जाएगी, लेकिन तौकते चक्रवाती तुफान की वजह से राज्य सरकार ने मिनी लॉकडाउन की अवधि तीन दिन और बढ़ा दी थी। गुरुवार को उक्त अवधि पूरी होने से पहले ही राज्य सरकार ने कोरोना महामारी पर धीरे-धीरे होते नियंत्रण को ध्यान में रख 27 मई अगले गुरुवार तक सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक कपड़ा बाजार खोलने की अनुमति दे दी है।
राज्य सरकार की अनुमति मिलने के बाद सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारिक संगठनों ने भी शुक्रवार सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक दुकानें खोलने व व्यापारिक गतिविधि सुचारु रखने के मैसेज सोशल मीडिया के माध्यम से कपड़ा व्यापारियों तक पहुंचा दिए हैं। वहीं, मार्केट प्रबंधन व एसोसिएशन ने भी सभी टैक्सटाइल मार्केट में 23 दिन बाद सुचारु होने जा रही व्यापारिक गतिविधि को ध्यान में रख सभी कर्मचारियों व स्टाफ को साफ-सफाई, रखरखाव समेत अन्य आवश्यक निर्देश दिए हैं।

-मार्केट सुचारु करने की रखी थी मांग

सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारिक संगठनों ने भी स्थानीय प्रशासन व राज्य सरकार के समक्ष कपड़ा बाजार खोलने की मांग रखी थी। इस दौरान संगठनों ने सशर्त कपड़ा बाजार खोलने के लिए साप्ताहिक फार्मूला भी लिखित में सौंपा था। वहीं, चैम्बर ऑफ कॉमर्स गठित टैक्सटाइल टास्क फोर्स ने भी कपड़ा बाजार खोलने की मांग की थी। इस बीच कई विवाद भी इसमें आए थे।

-ऑनलाइन व्यापार में तेजी के आसार

एक सप्ताह तक प्रायोगिक तौर पर सूरत कपड़ा मंडी के सभी बाजार खोलने की मंजूरी राज्य सरकार ने दी है और कपड़ा व्यापारियों ने उम्मीद जताई है कि इस दौरान ऑफलाइन के बजाय ऑनलाइन व्यापार में अवश्य तेजी रहेगी। इसकी वजह में बताया गया कि देश की अधिकांश कपड़ा मंडियां बंद है, लेकिन छिटपुट माल ऑनलाइन ऑर्डर के जरिए भेजा जा रहा है।

-10 से 15 फीसदी कारोबार ट्रेक पर

एक सप्ताह के लिए छह घंटे तक कपड़ा बाजार खोलने की अनुमति मिलने के बाद शुक्रवार से कपड़ा व्यापारियों ने उम्मीद जताई है कि कपड़ा कारोबार पहले दिन से ही 10 से 15 प्रतिशत पटरी पर आने की संभावना है। इसमें ऑनलाइन सिस्टम का बड़ा योगदान रहने के आसार भी उन्होंने जताते हुए बताया कि स्टॉक माल का रोटेशन घूमने से व्यापारिक गतिविधि को बल मिलेगा।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned