SURAT KAPDA MANDI: यह तस्वीर जागरुकता का अभाव बताती है...

कोरोना से बचाव के लिए जहां शहर में महानगरपालिका व स्वयंसेवी संगठनों की ओर स जगह-जगह वैक्सीनेशन सेंटर संचालित है वहीं, पर कोविड-19 के टेस्टिंग सेंटर भी कोरोना महामारी के प्रति सतर्क रहने के लिए सुचारु बने हुए हैं

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 11 Jun 2021, 09:16 PM IST

सूरत. कोरोना से बचाव के लिए जहां शहर में महानगरपालिका व स्वयंसेवी संगठनों की ओर स जगह-जगह वैक्सीनेशन सेंटर संचालित है वहीं, पर कोविड-19 के टेस्टिंग सेंटर भी कोरोना महामारी के प्रति सतर्क रहने के लिए सुचारु बने हुए हैं। ऐसे ही टेस्टिंग सेंटर सूरत कपड़ा मंडी के विभिन्न टैक्सटाइल मार्केट परिसर में भी मार्केट एसोसिएशन के सहयोग से संचालित है, लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से इन सेंटरों पर दिनभर बैठे रहने के बाद भी मनपाकर्मियों के रजिस्टर में टेस्टिंग करवाने वाले लोगों की संख्या एक सौ के पार तक भी नहीं पहुंच पाती। शुक्रवार दोपहर पौने तीन बजे तक गुडलक मार्केट में स्थित टेस्टिंग सेंटर पर मात्र 60 जनों ने रेपिड एंटीजन टेस्ट करवाया था, जबकि वहां मौजूद कर्मचारियों का कहना था कि यह संख्या भी इसलिए इतनी हो गई क्योंकि गुडलक मार्केट के नजदीक स्थित गोलवाला मार्केट में मनपा टीम जांच कर रही है। यहीं पर आरटीपीसीआर टेस्टिंग की सुविधा भी कपड़ा बाजार के व्यापारियों, कर्मचारियों व अन्य लोगों के लिए निशुल्क रूप से की गई है जबकि अन्यत्र स्थल पर इसी टेस्टिंग की महंगी कीमत चुकानी पड़ती है।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned