SURAT KAPDA MANDI: ऐसे तो नहीं हो पाएगा काम फिर जाना पड़ेगा हड़ताल पर

बुधवार शाम को थी शहर पु्लिस आयुक्त के साथ बैठक वो अब गुरुवार सुबह में होगी

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 21 Jan 2021, 08:51 PM IST

सूरत. रिंगरोड कपड़ा बाजार के लिए शहर पुलिस प्रशासन की नई टै्रफिक पॉलिसी किसी को रास नहीं आ रही है और इस सिलसिले में गुरुवार शाम माल ढुलाई से जुड़े व्यवसायी संगठनों की बैठक में इस पर कड़ी आपत्ति जताई गई और बताया कि ऐसे हालात में तो ट्रांसपोर्टेशन से जुड़े संगठनों को हड़ताल पर जाना पड़ जाएगा। इससे पहले गुरुवार शाम इन संगठनों के प्रतिनिधियों की शहर पुलिस आयुक्त के साथ इसी मसले पर बैठक होनी थी जो अब शुक्रवार सुबह में होगी।
कोरोना काल में नई गाइडलाइन के अनुरूप रिंगरोड कपड़ा बाजार में व्यापारिक गतिविधि लम्बे समय से जारी है और इसमें आवश्यक सुधार के उद्देश्य से गत 2 जनवरी को शहर पुलिस आयुक्त की मौजूदगी में बैठक हुई थी और उस दौरान दिए गए सुझावों के आधार पर मंगलवार को ही शहर पुलिस प्रशासन की नई टै्रफिक पॉलिसी रिंगरोड कपड़ा बाजार में लागू करने के लिए नोटिफिकेशन जारी किया था। इस नोटिफिकेशन में मालवाहक वाहनों के रिंगरोड कपड़ा बाजार में प्रवेश की नई समयावधि का पता पड़ते व्यापारिक संगठनों समेत मालवाहक वाहनों सूरत टैम्पो मालिक ड्राइवर वेलफेयर एसोसिएशन, सूरत जिला टैक्सटाइल मार्केट लेबर यूनियन, सूरत ग्रे फिनिश डिलीवरी चेरिटेबल ट्रस्ट व सूरत गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन आदि ने कड़ी आपत्ति जताना प्रारम्भ कर दिया। इसके बाद बुधवार शाम न्यू टैक्सटाइल मार्केट के बोर्डरूम में शहर यातायात पुलिस अधिकारियों के साथ सभी संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक भी बुलाई गई और इसमें नई ट्रैफिक पॉलिसी के लिए सुझाव पत्र तैयार किया गया था।

-कड़क अमल के अगले दिन से हड़ताल

गुरुवार शाम शहर पुलिस आयुक्त के साथ बैठक स्थगित होने पर सूरत टैम्पो मालिक ड्राइवर वेलफेयर एसोसिएशन, सूरत जिला टैक्सटाइल मार्केट लेबर यूनियन, सूरत ग्रे फिनिश डिलीवरी चेरिटेबल ट्रस्ट आदि संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक मिलेनियम मार्केट के पीछे मल्टीलेयर पार्किंग परिसर में रखी गई। बैठक में प्रतिनिधियों ने बताया कि नई ट्रैफिक पॉलिसी के लिए आवश्यक सुझाव पत्र भेजा गया है और शहर पुलिस आयुक्त के साथ बैठक में अब शुक्रवार सुबह सभी प्रतिनिधि उन्हीं बातों को दोहराएंगे। जानने को मिल रहा है कि 26 जनवरी के बाद प्रशासन नई ट्रैफिक पॉलिसी पर कड़ाई से अमल करेगी। नई ट्रैफिक पॉलिसी घोषित करते हुए मालवाहक वाहनों का क्षेत्र में प्रवेश का समय सुबह नौ से दोपहर 12 बजे तक और शाम 6 से 9 बजे तक की समयावधि में माल ढुलाई का कार्य मुश्किल हो जाएगा और ऐसे हालात में सभी संगठनों के पास हड़ताल के सिवाय कोई विकल्प शेष नहीं रह जाएगा। हालांकि बैठक में यह भी उम्मीद जताई गई कि शुक्रवार सुबह शहर पुलिस आयुक्त के साथ बैठक में नई समस्या को कोई मजबूत हल निकल आएगा।

-पिछली बैठक में दिया था प्रस्ताव

गत दो जनवरी को आयोजित हुई बैठक में साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन, सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन समेत अन्य व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि व्यापारी मौजूद थे। इसी बैठक में रिंगरोड कपड़ा बाजार में जारी ओवरब्रिज निर्माणकार्य व यातायात के दबाव के मद्देनजर नई ट्रैफिक पॉलिसी के लिए सुझाव मांगे गए थे। उस दौरान एक व्यापारिक संगठन के प्रतिनिधि व्यापारी ने मालवाहक वाहनों के रिंगरोड कपड़ा बाजार में प्रवेश का समय सीमित अवधि में निर्धारित किए जाने का प्रस्ताव रखा था, वो ही प्रस्ताव अब सभी के लिए मुश्किल का कारण बन गया है।

-सारोली कपड़ा बाजार...एक चर्चा यह भी

मल्टीलेयर पार्किंग परिसर में गुरुवार शाम हुई बैठक के बाद कुछ ठेकेदारों ने बताया कि यह सारा खेल रिंगरोड कपड़ा बाजार की व्यापारिक गतिविधि को सारोली कपड़ा बाजार डायवर्ट करने के लिए खेला जा रहा है। उनके मुताबिक लॉकडाउन के बाद रिंगरोड कपड़ा बाजार से कई व्यापारी सहुलियतों के हिसाब से सारोली कपड़ा बाजार में स्थानांतरित हो गए थे, उसके बावजूद वहां के दर्जनों टैक्सटाइल मार्केट खाली पड़े हैं। रिंगरोड कपड़ा बाजार में व्यापारिक गतिविधि में तरह-तरह की दिक्कतें रहेगी तो व्यापारी आसानी से यहां से सारोली कपड़ा बाजार के विभिन्न टैक्सटाइल मार्केट में पहुंच सकेगा।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned