SURAT MAHANAGARPALIKA: परवत पाटिया क्षेत्र में जारी हरसंभव प्रयास

-खाड़ी के मुहानों की चौड़ाई और सफाई, खाड़ी में डी-वॉटरिंग के साथ-साथ स्ट्रोमलाइन की भी हो गई है तैयारियां

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 03 Jul 2021, 06:37 PM IST

सूरत. गत दो वर्षों से मानसून के पूरी रंगत में जमते ही शहर में खाड़ी बाढ़ के कारण चर्चा का केंद्र बनने वाले परवत पाटिया क्षेत्र को पानी के बीच टापू बनने से बचाने के हरसंभव जतन क्षेत्रीय पार्षदों के सहयोग से महानगरपालिका प्रशासन कर रहा है। खाड़ी के मुहानों की चौड़ाई व सफाई, खाड़ी में डी-वॉटरिंग के अलावा प्रशासनिक प्रयासों में अब तीन करोड़ से अधिक की लागत वाली स्ट्रोमलाइन की तैयारियां भी शामिल हो गई है।
शहर के परवत पाटिया क्षेत्र के ऊपर स्थित सारोली व गोडादरा क्षेत्र में आकार लेती कपड़ा बाजार की बड़ी-बड़ी टैक्सटाइल मार्केट इमारतों की वजह से सणिया-हेमाद में आगे से बहकर आने वाली खाड़ी के किनारे कई जगह संकरे हो गए है और खाड़ी की गहराई भी मिट्टी से भर गई है। ऐसे हालात में दो वर्ष पहले वर्ष 2019 में मानसून के जमते ही परवत पाटिया क्षेत्र खाड़ी बाढ़ से टापू में तब्दील हो गया था और ऐसा ही नजारा कोरोना काल के आगमन वाले वर्ष 2020 में भी खाड़ी बाढ़ की वजह से देखने को मिला। इस दौरान हजारों लोगों को बेवजह खाड़ी बाढ़ में भारी परेशानी झेलनी पड़ी और चार-पांच दिन तक लगातार खाड़ी बाढ़ से मुश्किलों से घिरे रहना पड़ा था। गत दो वर्षों के कड़वे अनुभवों को ध्यान में रख महानगरपालिका प्रशासन खाड़ी बाढ़ की समस्या को कम से कम करने के लिए गत दो माह से सक्रिय बना हुआ है और इसमें खाड़ी किनारे व मुहानों की साफ-सफाई, ड्रेजिंग के अलावा बरसाती पानी के भराव वाले स्थल पर डी-वॉटरिंग की व्यवस्था के बाद स्ट्रोमलाइन की तैयारियां भी क्षेत्र में की गई है।

-लैंडमार्क से श्यामसंगिनी मार्केट तक

बरसाती पानी के भराव को रोकने के लिए वार्ड 18 में कड़ोदरा रोड स्थित लैंडमार्क मार्केट से कुंभारियां गांव स्थित श्यामसंगिनी मार्केट तक स्ट्रोमलाइन डालने के कार्य को क्षेत्रीय पार्षदों की मांग के बाद मंजूरी दी गई है। तीन करोड़ से अधिक के लागत खर्च वाले इस कार्य के पूर्ण होने से लैंडमार्क मार्केट के सामने जमा होने वाला बरसाती पानी स्ट्रोमलाइन के जरिए आसानी से बहकर निकल जाएगा और सड़क पानीरहित रहेगी और वाहनों के आवागमन में दिक्कत नहीं होगी।

-हरसंभव प्रयास जारी है

मानसून का आगमन हो चुका है और परवत पाटिया क्षेत्र को खाड़ी बाढ़ की समस्या से दूर रखने के हरसंभव प्रयास कोरोना काल के बीच महानगरपालिका कर रही है। क्षेत्र में कई नए कार्य पूर्ण भी हो गए हैं और कई नए कार्य की शुरुआत जल्द होगी।

-दिनेश राजपुरोहित, क्षेत्रीय पार्षद व चेयरमैन, स्लम इम्प्रूवमेंट कमेटी, मनपा

-10 ईंच बारिश का पानी भी नहीं होगा जमा

प्रत्येक वर्ष मानसून के दौरान खाड़ी किनारे व निचाई वाले परवत गांव में पानी जमा होने की स्थाई शिकायत को दूर करने के लिए मनपा प्रशासन ने यहां पर 66 किलोवाट के चार पम्पसैट लगाए है और दक्षिण गुजरात विज कंपनी का नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। मनपा प्रशासन व क्षेत्रीय पार्षदों का दावा है कि 10 ईंच बारिश होने पर भी खाड़ी किनारे व निचाई वाले परवत गांव के सरस्वती स्कूल के आसपास जमा पानी दो घंटे में निकल जाएगा।

SURAT MAHANAGARPALIKA: परवत पाटिया क्षेत्र में जारी हरसंभव प्रयास

-मनपा चुनाव में बना था अहम मुद्दा

गत फरवरी में ही सम्पन्न हुए सूरत महानगरपालिका के चुनाव के दौरान वार्ड 18 व 19 में खाड़ी बाढ़ का मुद्दा काफी गरम रहा था। भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों ने इस संबंध में जमकर दावे उस दौरान मतदाताओं के समक्ष किए थे। दोनों ही वार्ड में भाजपा पैनल ने जीत दर्ज की थी और बताते हैं कि चुनाव के दौरान क्षेत्रीय मतदाताओं से किए गए खाड़ी बाढ़ की समस्या को दूर करने के वादे पर खरा उतरने का प्रयास मनपा प्रशासन के साथ मिलकर किया जा रहा है।

SURAT NEWS DAYRI: सूरत मनपा को दस लाख का सहयोग
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned