‘लोगों की भीड़ को कौतुहल से देख रही थीं मासूम आंखें’

‘लोगों की भीड़ को कौतुहल से देख रही थीं मासूम आंखें’
‘लोगों की भीड़ को कौतुहल से देख रही थीं मासूम आंखें’

Dinesh M.Trivedi | Updated: 15 Sep 2019, 10:37:44 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

surat news - किन्नरों के लालच का शिकार हुए गहेरीलाल के लिए शोक सभा

सूरत. किन्नरों के लालच की भेंट चढ़े गहेरीलाल खटीक की दो मासूम बेटियां संध्या (7) और प्रियांशी (3) परवत गांव कम्युनिटी हॉल में रविवार को आयोजित शोक सभा में शामिल लोगों को कौतुहल से देख रही थीं। उन्हें शायद आभास नहीं था कि उनके सिर से पिता का साया उठ चुका है। राजस्थान के चितौडग़ढ़ जिले के अतियाना गांव के मूल निवासी गहेरीलाल के भाई जगदीश खटीक ने बताया कि दो बेटियों के बाद ३१ सितम्बर को उनके भाई के यहां पुत्र अनमोल का जन्म हुआ था। पूरे परिवार में खुशी का माहौल था। काल बन कर आए किन्नरों ने खुशी मातम में बदल दी। गहेरीलाल की पत्नी मनीषा और अनमोल इन दिनों गांव में हैं।

‘लोगों की भीड़ को कौतुहल से देख रही थीं मासूम आंखें’


खटीक समाज दीनबंधु सेवा ट्रस्ट की श्रद्धांजलि सभा में कई अग्रणी और क्षेत्र के सभी समाजों के लोग शामिल हुए तथा यथा शक्ति खटीक परिवार की मदद की। लोगों ने ४ लाख ६२ हजार ५५० रुपए की सहायता राशि एकत्र की। छगनलाल मेवाड़ा ने बड़ी बेटी संध्या की शिक्षा तथा शादी तक खर्च उठाने की घोषणा की।


ऐसे हुई थी घटना
गोडादरा क्षेत्र की मानसरोवर सोसायटी में रहने वाला गहेरीलाल ३ सितम्बर को पुत्र जन्म की खुशी मना रहा थी। तीन किन्नर बधाई मांगने उसके घर आए। उसने उन्हें पांच हजार रुपए दिए, लेकिन किन्नर २१ हजार रुपए की मांग पर अड़ गए। समझाने के बाद भी वह तमाशा करने लगे और मारपीट कर उतारू हो गए। उन्होंने गहेरीलाल को जमीन पर गिरा दिया। सिर की नस फटने से वह कोमा में चला गया और बाद में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिम्बायत महाप्रभुनगर निवासी किन्नर रेणुका कुंवर (21), भाग्यश्री कुंवर (32) और सागरी कुंवर(25) को गिरफ्तार कर लिया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned