Budget / चुनावी साल की झलक : सूरत मनपा का 6003 करोड़ का ड्राफ्ट बजट पेश

सुमन स्मार्ट थीम पर होगा सूरत का विकास, प्रोपर्टी टैक्स में वृद्धि नहीं

सूरत. सूरत महानगर पालिका के आयुक्त बंछानिधि पाणी ने गुरुवार को वर्ष 2020-21 का 6003 करोड़ रुपए का ड्राफ्ट बजट पेश किया। बजट में चुनावी साल का असर साफ दिखा। प्रोपर्टी टैक्स में किसी तरह का बदलाव नहीं करते हुए जनता पर बोझ नहीं डाला गया, हालांकि फायर चार्ज में बढ़ोतरी कर आय का रास्ता खोला गया है। सुमन स्मार्ट थीम पर सूरत के विकास का खाका बजट में खींचा गया है, लेकिन बजट में नए बड़े प्रोजेक्ट्स की घोषणा नहीं की गई। पुराने कन्वेंशन बैराज, रिवर फ्रंट, डूमस सी फेस प्रोजेक्ट, तापी शुद्घिकरण को ही आगे बढ़ाया गया है।

मनपा आयुक्त ने बजट पेश करते हुए कहा कि सूरत विश्व का सबसे तेजी से बढ़ता शहर है। स्मार्ट सिटी कार्यान्वयन में हाल ही अवार्ड मिला है। वर्ष 2020-21 के बजट को सुमन स्मार्ट थीम पर बनाया गया है। सूरत को स्मार्ट बनाने का प्रयास किया जाएगा। 6003 करोड़ रुपए के ड्राफ्ट बजट में 2775 करोड़ रुपए का कैपिटल बजट शामिल है। रेवेन्यू आय 3231 करोड़ और रेवेन्यू खर्च 2091 करोड़ रुपए आंका गया है। प्रोपर्टी टैक्स में किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं की गई। फायर चार्ज में 300 रुपए तक का इजाफा किया गया है। विज्ञापन टैक्स, रोड टैक्स में बढ़ोतरी के जरिए मनपा की तिजोरी भरने की योजना बनाई गई है। विशेष तौर पर शहर के स्मार्ट विकास पर जोर दिया गया है। पर्यावरण, स्मार्ट ट्रांसपोर्टेशन, सेफ्टी फस्र्ट सिटी, सभी को छत, हर घर में नल के जरिए पानी और 24 बाय 7 जलापूर्ति जैसे प्रोजेक्ट्स के लिए बड़ी राशि आवंटित की गई है। इस साल फ्लाइओवर, रेलवे ओवरब्रिज और खाड़ी ब्रिज समेत 9 नए ब्रिजों का निर्माण किया जाएगा। आवास योजना के तहत नए 46 हजार आवासों का भी निर्माण कर लोगों को आशियाने मुहैया कराए जाएंगे। पर्यावरण संरक्षण के साथ ही पवन ऊर्जा और सोलर ऊर्जा के क्षेत्र में भी आगे बढऩे की योजना बनाई गई है।


दमकल विभाग का बजट दुगना


शहर में लगातार बढ़ते आग हादसों के बाद मनपा नींद से जागी है। इस बार के बजट में फायर विभाग का बजट 16 करोड़ से बढ़ाकर 32 करोड़ रुपए कर दिया गया है। आयुक्त ने बताया कि शहर में नए 15 फायर स्टेशन के साथ एक फायर ट्रेनिंग सेंटर भी बनाया जाएगा। फिलहाल शहर में 15 फायर स्टेशन हैं।

9 नए ब्रिज, 15 फायर स्टेशन, 150 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ेंगी


बजट में 9 नए ब्रिज और 15 नए फायर स्टेशनों के निर्माण के साथ शहर में 150 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ाने की योजना बनाई गई है। इनमें लिंबायत जोन में खरवनर जंक्शन से आंजणा रोड फ्लाइओवर ब्रिज, डिंडोली सांई प्वॉइंट फ्लाइओवर ब्रिज, अठवा जोन में ब्रेड लाइनर जंक्शन अंडर ब्रिज, लिंबायत जोन में डिंडोली मानसरोवर रेलवे ओवरब्रिज, सूरत-नवसारी रोड पर सनाबिल बेकरी से एकलेरा को जोड़ता रेलवे ओवरब्रिज, कोसाड-कृभको रेलवे ओवरब्रिज, सूरत-भुसालव लाइन पर लिंबायत और डिंडोली को जोडऩे वाला अंडर ब्रिज, बरमरोली में खाड़ी ब्रिज और वराछा में एक खाड़ी ब्रिज शामिल है। फायर विभाग का बजट दुगना करने के साथ नए 15 फायर स्टेशनों का निर्माण किया जाएगा। इनमें साउथ वेस्ट जोन में 4, इस्ट जोन में 2, वेस्ट जोन में 2, साउथ जोन में 4, वराछा बी जोन में 2 और नोर्थ जोन में 1 दमकल स्टेशन शामिल हैं। नए फायर स्टेशनों के निर्माण के साथ शहर में दमकल स्टेशनों की संख्या 16 से बढ़कर 31 हो जाएगी। इसके अलावा फायर ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण किया जाएगा। ट्रान्सफोर्मेटिव प्रोजेक्ट के तहत पहली बार शहर में 150 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ाने की योजना है। अगले पांच महीनों इन बसों का संचालन शुरू किया जाएगा। इ-रिक्शा तथा इ-कैब के लिए अलग-अलग जगह चार्जिंग स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

रुपए ऐसे आएगा


ऑक्ट्रॉय ग्रांट 25 फीसदी
सामान्य कर 14 फीसदी
यूजर्स चार्ज 23 फीसदी
वाहन कर 03 फीसदी
व्यवसाय कर 05 फीसदी
नोट टैक्स रेवेन्यू 25 फीसदी
रेवेन्यू ग्रांट 04 फीसदी
अन्य आय 01 फीसदी

..और ऐसे जाएगा
एस्टेब्लिशमेंट 51 फीसदी
प्रशासनिक एवं अन्य खर्च 05 फीसदी
मेंटेनेंस एवं बिजली खर्च 15 फीसदी
सर्विस एवं प्रोग्राम खर्च 9 फीसदी
कन्ट्रीब्यीशन सबसिडी एवं ग्रांट 07 फीसदी
ऋण चार्जेस एवं वित्तीय खर्च 01 फीसदी
मूल्य ह्रास 12 फीसदी

बजट हाइलाइट्स


ड्रेनेज, स्टॉर्म ड्रेनेज और हाउसिंग पर विशेष जोर।
स्मार्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर पर 66 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
100 फीसदी जलापूर्ति पाइल लाइन से।
24 बाय 7 जलापूर्ति योजना पर जोर।
डूमस सी फेस डवलपमेंट के लिए विशेष प्रावधान।
रिवर फ्रंट डवलपमेंट के लिए 3904 करोड़ रुपए का प्रावधान।
मेट्रो रेल प्रोजेक्ट्स के लिए 50 लाख रुपए। फ्रांस और जर्मनी से मिलेगा वित्तीय सहयोग।
पानी की क्वॉन्टिटी के बजाए पहली बार क्वॉलिटी पर ध्यान दिया जाएगा।
आउटर रिंग रोड इस साल पूरा करने पर जोर।
9 नए ब्रिजों के लिए 419 करोड़ रुपए।
15 नए फायर स्टेशन और एक ट्रेनिंग सेंटर बनेगा।
18 नए बाग-बगीचों का निर्माण।
स्वच्छता में आगे रहने वाले जोन को 10 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।
ग्रीन एनर्जी सोर्स के लिए 14 करोड़ रुपए की लागत से विन्ड पावर प्लांट का निर्माण।
150 इलेक्ट्रिक बसें 5 महीने में शुरू होंगी।
5 मल्टीलेवल पार्किंग बनाई जाएंगी।
दो स्पोट्र्स स्टेडियम पर 120 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
पांच जगह एयर क्वॉलिटी मोनिटरिंग स्टेशन बनेंगे।
11 जगह पर फूड एटीएम।
प्रोजेक्ट आश्रय के तहत 9 जगह नाइट शेल्टर। 50 करोड़ रुपए की लागत से हॉस्टल का निर्माण।
आवास योजना के तहत 46 हजार नए आवास।
आयुष्यमान भारत योजना के तहत 15 नए हेल्थ वेलनेस सेंटर।
कॉमन सोलर पैनल इंस्टॉलेशन के लिए 25,000 रुपए तक की सबसिडी।

budget 2020
Show More
Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned